1 से 5 दिसंबर तक लगेगा अमृता हाट मेला:स्थानीय एकल महिला लगा सकेंगी स्टाल, कलेक्टर ने रथ को दिखाई हरी झंडी

प्रतापगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रतापगढ़ कलेक्टर डॉ. इन्द्रजीत यादव ने मिनी सचिवालय से अमृता हाट मेले को लेकर प्रचार-प्रसार के लिए रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। यह रथ शहरी क्षेत्र में घुमकर व्यापक-प्रचार प्रसार करेगा। इस अवसर पर महिला अधिकारिता विभाग की सहायक निदेशक नेहा माथुर व महिला अधिकारिता विभाग के सुपरवाईजर त्रिलोकराज सिंह सिसोदिया सहित विभाग के कर्मचारी उपस्थित रहे।

महिला अधिकारिता विभाग की सहायक निदेशक ने बताया कि जिला प्रशासन एवं महिला अधिकारिता, महिला एवं बाल विकास विभाग के संयुक्त तत्वावधान में अमृता हाट मेले में महिला स्वयं सहायता समूहों के विभिन्न उत्पादों के विपणन व महिलाओं के आर्थिक सुदृढ़ीकरण के लिए महिला अधिकारिता विभाग द्वारा मोहनलाल सुखाडिया स्टेडियम में एक दिसम्बर से 5 दिसम्बर तक सवेरे 11 बजे से रात 9 बजे तक मेला आयोजित होगा।

मेले का उद्घाटन विधायक रामलाल मीणा एवं जिला प्रमुख इंद्रा देवी मीणा द्वारा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि उद्घाटन समारोह एक दिसम्बर को दोपहर 2 बजे से व सांस्कृतिक कार्यक्रम दोपहर 3 बजे से आयोजित होगा। 4 दिसम्बर को सायं 6 बजे से सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन व 5 दिसम्बर को सायं 4 बजे से समापन समारोह आयोजित होगा।

महिला अधिकारिता विभाग की सहायक निदेशक ने बताया कि गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी मेले का आकर्षण बांसवाड़ा के तीर कमान, कोटा की कोटा डोरिया, राजसंमद के इत्र एवं गुलाब, सौंफ के अर्क, सवाईमाधोपुर की लाख की चुड़िया, डूंगरपुर के पत्थर के उत्पाद, सोलर उत्पाद, जयपुर की कशीदाकारी, जरदोजी के हस्तनिर्मित उत्पाद, लंहगा गोटा पत्ती, धरियावद के स्वयं सहायता समूहों के बांस के उत्पाद, हर्बल गुलाल, अचार मसाला आदि रहेंगे।

उन्होंने बताया कि गत वर्ष जिले के निवासियों द्वारा कुल 15 लाख से भी अधिक की खरीदारी की गई थी। मेले को अधिक आकर्षक बनाने के लिए प्रतिदिन संध्या को सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा व बच्चों के लिए झूले भी लगाए जाएंगे। इस वर्ष पहली बार स्थानीय एकल महिला भी मेले में स्टॉल लगा सकेंगी। मेले का समय प्रतिदिन प्रातः 11 बजे से रात्रि 9 बजे तक रहेगा। अमृता हाट मेले में राजस्थान के 15 जिलों के 69 स्वयं सहायता समूह भाग लेंगे।

खबरें और भी हैं...