सड़कें तोड़ भूला आरयूआईडीपी:सीवरेज कार्य के चलते खुदी 1 दर्जन से ज्यादा मोहल्लों की सड़कें, आमजन परेशान

प्रतापगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रतापगढ़ के सालमपुरा, बोहरा गली, ओडागली, कृषि मंडी रोड, हाउसिंग बोर्ड रोड में सीवरेज कार्य से हो रही अव्यवस्था को लेकर आमजन ने अधिकारियों पर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि बिना किसी ठोस कार्य योजना के कार्य करने से जनता को हो रही परेशानी को कर्मचारी नहीं समझ पा रहे हैं। शहर के नंदलाल, सोहनलाल, मदनलाल, राजकुमार ने भी सीवरेज कार्य के बेढंग तरीके से चल रहे कार्य पर रोष व्यक्त किया है।

गौरतलब है कि शहर के 1 दर्जन से अधिक मोहल्ले की सड़कें सीवरेज कार्य के चलते खुदी हुई है। उसके मलबे से हो रही आमजन को परेशानी पर सीवरेज अधिकारियों को कई बार लोगों ने मौके पर बुलाकर रास्ते का कार्य पूरा कर दूसरे रास्ते को चालू करने की बात भी कही, लेकिन सीवरेज कर्मचारी अपनी जिम्मेदारी भूल सभी तरह के रास्ते को खोद दिए। जिसके चलते आम लोगों को बाजार, दफ्तर, ऑफिस, मंदिर जाने के लिए लंबा घूम कर जाना होता है।

क्षेत्र में सीवरेज कार्य के लिए सड़क खोदे हुए 1 महीना हो गया है, लेकिन सड़क का पुनर्निर्माण नहीं हुआ। सीवरेज अधिकारियों की इस मनमानी से क्षेत्र में भारी अव्यवस्था फैल रही है। शहर वासियों की ओर से बताई गई समस्या पर अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं। जिसके चलते आमजन आए दिन सड़क दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं।

यह पहला मामला नहीं

रूडीप ने अब तक शहर के पुराने हिस्से, बाहरी कॉलोनियों में भी कई काम किया है। इस दौरान इंदिरा कॉलोनी के लोग 15 दिनों तक घरों में कैद रहे थे, क्योंकि ठेकेदार ने दोनों तरफ से सड़क खोदकर छोड़ दी और लोगों के बाहर आने-जाने का रास्ता भी नहीं बचा। बच्चे स्कूल नहीं जा सके और काम करने वाले अपनी नौकरी पर। फिलहाल प्रशासन व्यवस्था सुचारू करने में जुट गया। इसी तरह नंद मार्ग पर सीवरेज के लिए खोदा गया गड्ढा लोगों की परेशानी का सबब बन गया। क्योंकि यह करीब 15 से 20 फीट गहरा था। इसे ठीक तिराहे पर बीच में खोदा गया। आए दिन हादसे का अंदेशा बना रहता था।

15 दिन तक नहीं ली कोई सुध

अधिकारी और ठेकेदार यहां पहुंचे और इस गड्ढे को सही करवाया। इतना ही नहीं शहर में जहां-जहां चेंबर बनाए जा चुके हैं, वहां पर भी सड़क उबड़-खाबड़ और काम चलाऊ बना कर छोड़ दी गई है। रूडीप ने नई सड़क पर काम किया हो और वह सड़क वापस सही कर दी हो ऐसा बेहद कम जगह दिखाई देता है। इससे पहले इंद्रा कॉलोनी के पास सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट को बनाए जाने को लेकर भी लोगों ने विरोध जताया था। मामले में रूडीप के एईएन एसके शर्मा और एक्सईएन अशोक कुमार से जानकारी चाही, तो उनके फोन नो रिप्लाई आए।

खबरें और भी हैं...