बिजली विभाग की लापरवाही से उजड़ा परिवार:खेत में बकरियां चरा रहे दो मासूमों की करंट लगने से मौत, 5 लाख के आर्थिक मुआवजे की मांग

प्रतापगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रतापगढ़ जिले के पीपलखूंट थाना क्षेत्र के बोरी बानघाटी गांव में बकरियां चराने गए दो चचेरे भाई करंट की चपेट में आ गए। दोनों बालक जब यहां पर बकरियां चरा रहे थे, उस दौरान बिजली का तार टूटकर खेत में गिरा हुआ था। जिसके बाद करंट की चपेट में आन के बाद दोनों बच्चों की मौत हो गई। हादसे के बाद ग्रामीणों में बिजली निगम के खिलाफ काफी गुस्सा देखा गया। परिजन दोनों बच्चों को लेकर पीपलखूंट के राजकीय अस्पताल पहुंचे लेकिन डॉक्टरों ने यहां उन्हें मृत घोषित कर दिया।

करंट लगने से मासूम की मौत हो गई
करंट लगने से मासूम की मौत हो गई

5-5 लाख आर्थिक सहायता के निर्देश
घटना की सूचना पर प्रधान भरत पारगी भी मौके पर पहुंचे। इसके बाद उन्होंने अधिकारियों और पुलिसकर्मियों को मौके पर बुलाया। जहां पर मौका पर्चा बनाया गया। बिजली निगम से तत्काल बिजली सप्लाई बंद करवाई। पीपलखूंट अस्पताल में दोनों शवों का पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों के सुपुर्द किए। गांव में ही दोनों बच्चों का अंतिम संस्कार करवाया गया। भरत पारगी ने तहसीलदार और बिजली निगम के अधिकारियों को परिवारों को 5-5 लाख रुपए आर्थिक सहायता देने के निर्देश दिए। मामले को लेकर भाजपा ने दोनों बच्चों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने और बिजली निगम के दोषी कर्मचारियों अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की है।

बच्चों की मौत के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है
बच्चों की मौत के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है

कक्षा 4 में करते थे पढ़ाई
पुलिस के अनुसार रामलाल(12) पुत्र भैरूलाल निनामा और जीतमल (8) पुत्र कालीचरण निनामा दोनों कक्षा चार में पढ़ाई करते थे। दोनों पढ़ाई और स्कूल के बाद परिवार का सहयोग करते थे। इसके लिए अक्सर बकरियां चराने चले जाया करते थे। खेत के आसपास बकरियां चराने के दौरान ही दोनों खेत में टूट कर पड़े बिजली के तार की चपेट में आए और दोनों की मौत हो गई। कालीचरण के 2 पुत्र की थे इनमें से जीतमल की मौत होने के बाद परिवार को गहरा सदमा लगा है। दूसरी तरफ रामलाल का परिवार भी हादसे के बाद सदमे में है। दोनों बच्चों के पिता आपस में रिश्ते में भाई है। हादसे के बाद अस्पताल में परिजनों का रो रो कर बुरा हाल दिखाई दिया।

भाजपा ने की कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग
भाजपा ने विद्युत निगम के कर्मचारियों और अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने और दोनों चचेरे भाईयों के परिवार को 5-5 लाख की सहायता राशि देने की राजस्थान सरकार से मांग की। भाजपा जिला प्रवक्ता हार्दिक अरुण छोरिया ने बताया कि डिस्कॉम की लापरवाही के कारण करंट की चपेट में आने के कारण दोनों मासूमों की मौत हो गई। भाजपा जिलाध्यक्ष गोपाल कुमावत ने कहा जिले सहित प्रदेशभर में मानसून दस्तक दे चुका है, फिर भी बिजली निगम के कर्मचारी व अधिकारी सतर्क नहीं है, कुमावत ने जिला प्रशासन से संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों को इस प्रकार की लापरवाही भविष्य में पुनरावृत्ति नहीं करने के लिए पाबन्द करने की भी मांग की।

खबरें और भी हैं...