शेरपा जी-20 शिखर सम्मेलन 5 से 7 दिसम्बर को:कुंभलगढ़ और राणकपुर जैन तीर्थ की ख्याति बढ़ेगी, विदेश मंत्रालय ने किया कुंभलगढ़ का निरीक्षण

कुम्भलगढ़3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मिनिस्ट्री ऑफ एक्सटर्नल अफेयर्स (विदेश मंत्रालय) की 5 सदस्य टीम,सुरक्षा व्यवस्था प्रभारी, प्रोग्रामर व पर्यटन अधिकारियों के साथ रविवार देर शाम को विश्व ऐतिहासिक कुंभलगढ़ दुर्ग पहुंची। उदयपुर पर्यटन उपनिदेशक शिखा सक्सेना ने बताया कि शेरपा जी-20 शिखर सम्मेलन का आयोजन आगामी 5-7 दिसम्बर को उदयपुर में होगा। भारत में पहली बार आयोजन 18वें शिखर सम्मेलन में 30 से अधिक देशों के राष्ट्राध्यक्ष व शासनाध्यक्ष मेहमान रूप में शिरकत करेंगे। जिनके स्वागत, कला संस्कृति, पर्यटन स्थल भ्रमण सहित विभिन्न व्यवस्थाएं को लेकर तैयारियां शुरू हो गई।

दुर्ग के इतिहास से करवाया रूबरू

एसडीएम जयपाल सिंह राठौड़, डिप्टी नरेश शर्मा, सीआइडी इंचार्ज राजसमन्द कार्तिक चौधरी, थानाधिकारी श्याम राज सिंह, हेरिटेज सोसाइटी के सचिव कुबेर सिंह सोलंकी ने आगवानी की। दुर्ग के इतिहास से रूबरू करवाते हुए यज्ञ वेदी परिसर, शिव मंदिर, लाईट एंड साउंड शो, दीवार सहित आने वाले महमानों को लेकर सभी व्यवस्थाओं और अव्यवस्थाओं से रूबरू करवाया।

इस दौरान उनके साथ पर्यटन उपनिदेशक शिखा सक्सेना, जिला पर्यटन अधिकारी जितेंद्र माली भी मौजूद रहे। इससे पूर्व सदस्य विख्यात राणकपुर जैन मन्दिर पहुंचे। जहां मन्दिर व परिसर का अवलोकन कर मेहमानों के भ्रमण व स्वागत विश्राम को लेकर विभिन्न व्यवस्थाए देखी और आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

रविवार को मिनिस्ट्री ऑफ एक्सटर्नल अफेयर्स (विदेश मंत्रालय) की 5 सदस्य टीम ज्वाइंट सेक्रेट्री नागार्जुन नायडू की अगुवाई में पहुंची। जिसमें सुरक्षा व्यवस्था प्रभारी ओएसडी कोल नेल कोटस, डीएस इमलीवाबंग कुब्जर, प्रोग्रामर अरुण कुमार साथ रहे, मिनिस्ट्री ऑफ एक्सटर्नल अफेयर्स जॉइंट सेक्रेटरी नागराज नायडू के सानिध्य में मिनिस्ट्री ऑफ एक्सटर्नल अफेयर्स अंडर सेक्रेट्री असीम अनवर, अंडरसेक्रेटरी नमन उपाध्याय, अंडर सेक्रेट्री विपुल बावा, अंडर सेक्रेट्री अनुज स्वरूप दल के साथ मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...