45 लोगों के फर्जी खाते खोले, लाखों का लेन-देन:पोस्ट ऑफिस में खुले अकाउंट, डाक विभाग ने ग्रामीणों को भेजे नोटिस

राजसमन्द2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दिहाड़ी मजदूरी करने, ठेला लगाने और छोटा-मोटा रोजगार करने वाले 45 लोगों के डाकघर में अकाउंट खोले गए। इन अकाउंट्स में जब लाखों का लेन-देन हुआ तो डाक विभाक सतर्क हो गया। डाक विभाग ने इन लोगों को नोटिस भेजकर पूछा है। अब बस्ती के लोगों में खलबली मची हुई है। मामला राजसमंद के कुंवारिया थाना इलाके के घाटी पंचायत क्षेत्र का है।

पंचायत क्षेत्र के खाखलिया खेडा व रेलवे स्टेशन बस्ती के करीब 45 लोगों को डाक घर उदयपुर से नोटिस मिला है। नोटिस में फर्जी तरीके से खाता खोलकर लाखों के लेन-देने के बारे में पूछताछ की गई है। ग्रामीण नोटिस मिलने के बाद सहमे हुए हैं। इन लोगों को गबन की जांच के लिए डाक मंडल उदयपुर ने जांच कमेटी के सामने अपने मूल आधार कार्ड व पैन कार्ड के साथ हाजिर होने के निर्देश दिए गए हैं।

लोगों का कहना है कि उन्हें नहीं पता कि उनके खातों में फर्जीवाड़ा कैसे हुआ है। कुछ लोगों का कहना है कि उन्होंने खाता खुलवाया ही नहीं। कुछ ग्रामीणों का कहना है कि वे सरकारी योजनाओं के लाभ के लिए आधार कार्ड, पैन कार्ड व अन्य दस्तावेज ई-मित्र पर जरूर देते हैं, लेकिन पोस्ट ऑफिस में उनका खाता कैसे खुला इसकी जानकारी नहीं है।

रेलवे स्टेशन बस्ती के एक व्यक्ति का कहना है कि पासपोर्ट बनवाने के लिए दस्तावेज दिए थे। खाखलिया खेडा निवासी ने बताया कि एड्रेस सही कराने के लिए ई-मित्र पर दस्तावेज दिए थे। खाखलिया खेडा के एक अन्य व्यक्ति ने बताया कि ऑनलाइन फार्म भरने के लिए उन्होंने दस्तावेज दिए थे। घाटी क्षेत्र के एक व्यक्ति ने मोबाइल सिम के लिए अपने दस्तावेज दिए थे। हालांकि कुंवारिया थाना में बात करने पर जानकारी मिली कि उदयपुर डाक मंडल की ओर से नोटिस दिए गए हैं। फिलहाल कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है।