ट्रांसफार्मर चोर गिरफ्तार, राजस्थान से गुजरात तक चोरियां:कोईल निकालकर बेचते थे, मौज-शौक के लिए करते थे वारदात

राजसमन्द3 महीने पहले

राजसमंद के राजनगर में ट्रांसफार्मर चोरी कर कोईल निकालकर बेचने के आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। राजनगर पुलिस थाना इंचार्ज हनुवंत सिंह राजपुरोहित ने बताया कि बिजली विभाग पिपरडा के जूनियर इंजीनियर छबिल कुमार यादव ने 25 मार्च को ट्रांसफार्मर चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। यह ट्रांसफार्मर आयुर्वेद अस्पताल नान्दोडा के पास से चुराया गया था। आरोपियों ने डेढ किलोमीटर दूर ले जाकर उसमें से कोईल चोरी कर ली थी और ट्रांसफार्मर की बॉडी वहीं छोड़ दी थी।

पुलिस अधीक्षक सुधीर चौधरी के निर्देश पर एक टीम का गठन कर चोरों की तलाश शुरू की। पुलिस ने राजनगर, कांकरोली, नाथद्वारा, केलवा, रेलमगरा, आमेट, देलवाड़ा व उदयपुर में दबिश देकर चार आरोपियों अर्जुनसिंह देवडा, उम्र 35 साल निवासी मेडता (काली मंगरी) पुलिस थाना डबोक जिला उदयपुर, अर्जुन कीर उम्र 32 साल निवासी भूतपुरा पुलिस थाना डबोक जिला उदयपुर, दीपक उर्फ रोहित गुर्जर उम्र 20 साल निवासी झांकरा पुलिस थाना देवगढ जिला राजसमन्द को 29 जून को जिला कारागृह राजसमन्द से जरिये प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार कर लिया। अन्य साथी अभियुक्त सोहननाथ उम्र 31 साल निवासी काजियावास नाथद्वारा थाना नाथद्वारा जिला राजसमन्द को दबिश देकर गिरफ्तार किया गया।

गिरफ्तार अभियुक्तों से पूछताछ की गई तो थाना क्षेत्र व अन्य थाना क्षेत्र से टायर, डी.पी., लोहे की एंगले, मोटरे एवं भंगार चोरी की है। आरोपियों के खिलाफ अलग अलग थानों में कई मामले दर्ज हैं। अर्जुनसिंह के खिलाफ डी.पी. चोरी, नकबजनी एवं चोरी के कुल 20 प्रकरण दर्ज हैं। अर्जुन कीर के खिलाफ डी.पी. चोरी, नकबजनी एवं चोरी के कुल 8 प्रकरण दर्ज हैं। दीपक उर्फ रोहित गुर्जर के खिलाफ डी.पी. चोरी, नकबजनी एवं चोरी के कुल 4 प्रकरण दर्ज हैं।

वारदात का तरीका
आरोपी जेल से बाहर आते ही मौज शौक के लिए चोरी करते हैं। चोरी से पहले मौके की रेकी करते हैं। फिर वाहन से ट्रांसफार्मर या अन्य सामान चोरी कर घटना को अंजाम देते हैं। सभी आरोपी पहले गुजरात में साथ नौकरी करते थे। गुजरात में भी आरोपियों ने कई चोरियां की हैं।

खबरें और भी हैं...