आस्था:मांडा उलांगने आए शालिग्राम भगवान काे 51 हजार, साेने की अंगूठी भेंट की

राजसमंदएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उपखंड क्षेत्र के बामणिया कलां में कुछ दिन पूर्व ठाकुर सालकराम भगवान, तुलसी माता, देवनारायण भगवान, पीपल देव, नंदेश्वर महाराज और गाै रानी का विवाह संपन्न हुआ था। इसी के तहत शुक्रवार काे ठाकुर शालिग्राम भगवान, देवनारायण भगवान, नंदेश्वर महाराज सती माता मंदिर पर मांडा उलांघने के लिए आए। सती माता मंदिर के भोपाजी प्रकाश लोहार ने बताया कि सनातन धर्म के अनुसार शादी के बाद मांडा उलांगने की परंपरा रही है। इसी परंपरा का निर्वहन करते हुए शालिग्राम भगवान देवनारायण भगवान व नंदेश्वर महाराज के साथ पधारे। मांडे उलांगने आए दूल्हे के रूप में शालिग्राम भगवान को 51 हजार व आधा तोले सोने की अंगूठी, पोशाख, देवनारायण भगवान को 51 हजार रुपए, आधा तोला सोने की अंगूठी व नंदेश्वर माराज को 51 हजार रुपए, आधा तोले सोने की अंगूठी एवं पूरा सरपाव दिया। कार्यक्रम में सभी को प्रसाद वितरण किया। इस दौरान आयोजक समिति के जगदीश लोहार ने सभी को साफा पहनाया एवं स्वागत किया। इस अवसर पर प्रहलाद लोहार, माधु लोहार, कैलाश लाेहार, सत्यनारायण लाेहार, जगदीश चंद्र, पूरण लाेहार, नारायण लोहार, संजू लाेहार सहित भक्तजन उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...