• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Rajsamand
  • Nursing College Will Open In Rajsamand District Or In Nathdwara, There Is Scope For Discussion Among Regional Leaders Throughout The Day

सीएम गहलोत का ट्वीट लाया सस्पेंस...:नर्सिंग काॅलेज राजसमंद जिले में खुलेगा या नाथद्वारा में, दिनभर क्षेत्रीय नेताओं में चर्चा का दाैर

राजसमंदएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बजट में नर्सिंग काॅलेज राजसमंद में खाेलने को कहा, अब नाथद्वारा में खाेलने का ट्वीट - Dainik Bhaskar
बजट में नर्सिंग काॅलेज राजसमंद में खाेलने को कहा, अब नाथद्वारा में खाेलने का ट्वीट

राजसमंद में नर्सिंग काॅलेज खाेलने काे लेकर सीएम अशाेक गहलाेत की ओर से किए गए ट्वीट के बाद नई सियासी हलचल पैदा हाे गई। इस बार के बजट घाेषणा में सीएम अशाेक गहलोत ने राजसमंद में नर्सिंग काॅलेज खाेलने की घाेषणा की थी। नर्सिंग काॅलेज के लिए 32 कराेड़ का बजट भी जारी किया जाएगा। नर्सिंग काॅलेज काे लेकर प्रशासन ने राजसमंद आरके अस्पताल के पीछे राजस्व गांव शंकरपुरा में दाे हेक्टेयर जमीन फाइनल की है। गुरुवार काे सीएम अशाेक गहलोत ने ट्वीट करके लिखा है कि दाैसा जिले के लालसाेट तथा राजसमंद जिले के नाथद्वारा में नर्सिंग काॅलेज खाेले जाने के प्रस्ताव काे मंजूरी दी है।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2022-23 के बजट भाषण में राज्य के 18 जिले जहां नर्सिंग काॅलेज नहीं है, वहां नए नर्सिंग काॅलेज खाेले जाने की घाेषणा की थी। गहलोत ने किए ट्वीट के बाद अब काॅलेज कहा खुलेगा राजसमंद या नाथद्वारा में। इसकाे लेकर सस्पेंस पैदा हाे गया है। इसकाे लेकर क्षेत्रीय नेताओं में सियासत जाेर पकड़ रही है। पूरे दिन काॅलेज के मामले काे लेकर चर्चा रही। उल्लेखनीय है कि राजसमंद में भाजपा की विधायक दीप्ति माहेश्वरी है, वहीं नाथद्वारा में कांग्रेस के विधायक डाॅ. सीपी जाेशी और वह विधानसभा अध्यक्ष भी है।

अप्रैल में जमीन फाइनल करके आवंटन की कार्रवाई की
अप्रैल में जमीन फाइनल करके आवंटन की कार्रवाई की

जहां पूर्व में सीएम की बजट घाेषणा में चिकित्सा विभाग व जिले के प्रशासनिक अधिकारियाें ने मार्च माह में ही नर्सिंग काॅलेज के लिए जमीन की तलाश शुरू कर दी थी। विभाग ने अप्रैल माह में जमीन फाइनल करके आवंटन की कार्रवाई की भी शुरूआत कर दी गई। ऐसे में गुरुवार काे सीएम अशाेक गहलोत के ट्वीट ने अधिकारियाें काे सस्पेंस में डाल दिया। राजसमंद के नाथद्वारा में नर्सिंग काॅलेज खाेलने की घाेषणा पर प्रशासनिक अधिकारियाें व चिकित्सा विभाग के अधिकारियाें की तैयारियां धरी की धरी रह गई।

99 साल के लिए राजसमंद में अधिकारियाें ने नर्सिंग काॅलेज के लिए फाइनल की जमीन
जानकारी के अनुसार राजसमंद में नर्सिंग काॅलेज की घाेषणा के बाद राजसमंद के चिकित्सा विभाग व प्रशासिनक अधिकारियाें ने जमीन की तलाश तेज कर दी थी। ऐसे में जिला कलेक्टर नीलाभ सक्सेना ने 20 अप्रैल काे एक पत्र संभागीय आयुक्त काे लिखा है। इस पत्र में लिखा है कि सात अप्रैल की प्रसारित स्वीकृति की अनुपालना में उपखंड अधिकारी राजसमंद की अनुशंषानुसार राजस्व ग्राम शंकरपुरा तहसील राजसमंंद स्थित आरजी नंबर 196 रकबा 2.2420 हैक्टेयर भूमि का राजस्थान भू-राजस्व (स्कूलाें, काॅलेज चिकित्सालय, धर्मशाला, तथा सार्वजनिक उपयाेग के अन्य भवन निर्माण के लिए अनाधिवासित राजकीय कृषि भूमि का आवंटन) नियम 1963 में वर्णित प्रावधानाें के तहत राजकीय नर्सिंग काॅलेज जिला राजसमंद काे एतद द्वारा 99 वर्ष की लीज पर निशुल्क भू-आवंटन किया जाता है। चारागाह की क्षतिपूर्ति जरिये आदेश क्रमांक 989-93 दिनांक 6 अप्रैल 2022 (प्रति संलग्न) से की जा चुकी है। तदनुसार राजस्व अभिलेख में अंकन सुनिश्चित किया जावें। यह लेटर कलेक्टर ऑफिस से जयपुर चिकित्सा विभाग, संभागीमय आयुक्त उदयपुर, एसडीएम राजसमंद, सीएमएचओ ऑफिस राजसमंद, तहसीलदार राजसमंद आदि काे भी भेजा गया।

बढ़ सकता असंताेष
सरकार ने राजसमंद के नाम पर नर्सिंग काॅलेज खाेलने की बजट में घाेषणा करने पर राजसमंदवासियाें ने खुशी जताई थी। लेकिन बाद में नाथद्वरा में नर्सिंग काॅलेज की घाेषणा हाेने पर राजसमंदवासियाें काे निराश हुए है। अब नर्सिंग काॅलेज जिसके लिए जमीन अांवटन हाेने के बाद नाथद्वारा खाेलने की घाेषणा हाेने पर लाेगाें का असंताेष बढ़ सकता है।

  • पूर्व की सूचना की आधार पर राजसमंद में नर्सिंग काॅलेज के लिए जमीन आवंटन की गई। नाथद्वारा में नर्सिंग काॅलेज खाेलने संबंधित किसी प्रकार की अधिकारिक सूचना नहीं मिली है। इस बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है। - नीलाभ सक्सेना, कलेक्टर राजसमंद।​​​​​​​
खबरें और भी हैं...