विश्व हिंदू परिषद चित्तौड़ प्रांत का दुर्गावाहिनी शौर्य प्रशिक्षण वर्ग:साध्वी सुगन दीदी बोलीं- नारी शक्ति साक्षात ईश्वर को भी मनुष्य रूप में धरती पर लाने की क्षमता रखती है

राजसमंद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विश्व हिंदू परिषद चित्तौड़ प्रांत का दुर्गावाहिनी शौर्य प्रशिक्षण वर्ग विद्या निकेतन माध्यमिक विद्यालय गुड़ली राजसमंद में चल रहा हैं। वर्ग के दूसरे दिन साध्वी ऋतंभरा की शिष्या साध्वी सुगन दीदी और मुख्य वक्ता दुर्गा वाहिनी प्रांत संयोजिका लता पंड्या दीदी का सानिध्य मिला। साध्वी ने नारी की अद्वितीय शक्ति के बारे में विस्तृत रूप से बताते हुए कहा कि नारी में इतनी शक्ति है कि साक्षात ईश्वर को भी मनुष्य के रूप में धरती पर लाने की क्षमता रखती हैं। जिसमें उन्होंने श्रीराम माता कौशल्या कैकेयी, श्रीकृष्ण माता यशोदा देवकी और अन्य कई उदाहरण देकर नारी शक्ति के बारे में बताया। मुख्य वक्ता दुर्गावाहिनी प्रांत संयोजिका लता पंड्या ने विश्व हिंदू परिषद दुर्गावाहिनी संगठन के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए बहनों को बताया कि दुर्गावाहिनी की स्थापना महिषासुर मर्दिनी मां दुर्गा को आदर्श मानकर शारदीय नवरात्रा की दुर्गा अष्टमी के दिन परम पूज्य दीदी मां साध्वी ऋतंभरा द्वारा की गई। दुर्गा वाहिनी संगठन में बहनों का शारीरिक मानसिक और बौद्धिक विकास किया जाता है, जिससे उनमें आत्मविश्वास एवं स्वाभिमान जागृत हो और वह समाज में सेवा सुरक्षा एवं संस्कार का ध्येय लेकर कार्य करें शक्ति साधना केंद्र एवं बाल संस्कार केंद्र के माध्यम से संगठन विस्तार के बारे में बताते हुए बहनों को राष्ट्र कल्याण एवं समाज कल्याण में अपनी भूमिका निभाने के लिए प्रेरित किया। प्रशिक्षण वर्ग के चर्चा सत्र में राजसमंद विभाग संयोजिका निशा शर्मा, पायल मेवाड़ा, सुमित्रा जाट ने सोशल मीडिया के लाभ एवं हानि विषय पर चर्चा की गई। शारीरिक प्रमुख सीमा जाट, शिवानी कुशवाहा, पंकज हाड़ा, शैलजा सोनी, स्वीटी शर्मा, सरिता तंवर, ललिता पालीवाल आदि बहनों ने दंड, नियुद्ध राइफल समता बाधा आदि विषयों का प्रशिक्षण दिया।

खबरें और भी हैं...