पुलिस बोली- गौस-रियाज का राजसमंद से कनेक्शन नहीं:SP ने कहा- यहां कोई मौलाना नहीं था हत्यारों का मददगार, अफवाहों से बचें

राजसमंद3 महीने पहले

उदयपुर में कन्हैयालाल हत्याकांड मामले में राजसमन्द जिला पुलिस अधीक्षक सुधीर चौधरी ने जिला मुख्यालय पर एक प्रेस वार्ता आयोजित की। उन्होंने बताया कि उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की दुकान में घुसकर निर्मम तरीके से हत्या की। इस मामले में यह अफवाह फैलाई जा रही है कि राजसमंद में कोई मौलाना आरोपियों गौस मोहम्मद व रियाज का मददगार था और उन्हें शरण दी थी। यह सरासर झूठ और मनगढंत बात है। राजसमंद के लोगों की भूमिका पॉजिटिव रही है। अफवाहों पर ध्यान न दें।

एसपी चौधरी ने कहा कि हत्या के बाद मौके से फरार हुए अपराधियों को राजसमन्द जिले में पुलिस ने नाकेबंदी कर भीम थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया था। आरोपियों ने घटनाक्रम को लेकर विडियो भी जारी किया था, जिसमें पीएम का नाम भी लिया था। यह बेहद गंभीर मामला है। इसलिए इसमें आमजन को भी संवेदनशीलता बरतनी होगी।

एसपी चौधरी ने कहा कि यह अफवाह फैलाई जा रही है कि दोनों गिरफ्तार आरापियों की राजसमन्द में किसी ने मदद करते हुए शरण दी थी। दोनों का राजसमन्द से गिरफ्तार होना एक इत्तेफाक है। यह अफवाह भी फैलाई जा रही है कि आरोपी का रिश्तेदार भीम में मौलाना है। ये बातें निराधार व झूठी हैं। पुलिस अफवाह फैलाने वालों पर नजर बनाए हुए है। एसपी ने बताया कि पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर पूछताछ की है। जो तथ्य आए उनकी जानकारी एनआईए टीम को दे दी है। आगे की कार्यवाही उच्च स्तर पर जारी है।

तलवार से कांस्टेबल पर हमला मामले पर बोले
पुलिस अधीक्षक ने बुधवार को भीम कस्बे में भीड़ में से किसी व्यक्ति ने तलवार से हमला कर कांस्टेबल को घायल कर दिया। इस मामले में एसपी ने कहा कि उग्र भीड़ के नियंत्रण के दौरान संदीप नाम के कांस्टेबल पर हमला किया गया है। जिसको पुलिस गिरफ्तार करेगी। हमारा सिपाही बहादुर था। गर्दन पर गहरे घाव के बावजूद उसने अपनी जिम्मेदारी निभाई। इस मामले में पुलिस ने 23 जनों को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी आरोपियों को पकड़ा जाएगा। क्षेत्र में अराजकता फैलाने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।

प्रेसवार्ता के दौराना जिला कलेक्टर निलाभ सक्सेना ने कहा स्थिति सामान्य होने तक शहर में धारा 144 लागू रहेगी। जिले में आज भी नेट बंद है।

खबरें और भी हैं...