श्रीमद्भागवत कथा:अरे द्वारपालो कन्हैया से कह दो दर पे सुदामा गरीब आ गया है, मित्रता हो तो कृष्ण-सुदामा जैसी : आचार्य बालमुकुंद शास्त्री

बालेर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • श्रीमद्भागवत सप्ताह ज्ञान यज्ञ में कथा व्यास आचार्य पंडित बालमुकुंद महाराज ने भगवान की कथाओं का बखान किया

कस्बे में अष्ठभुजा देवी मंदिर परिसर में चल रही संगीतमय श्रीमद्भागवत सप्ताह ज्ञान यज्ञ में शनिवार को कथा व्यास आचार्य पंडित बालमुकुंद महाराज ने भगवान की कथाओं का अपने श्रीमुख से बखान किया। इस दौरान आचार्य ने सुदामा चरित्र, कृष्ण सुदामा मित्रता का मार्मिक बखान किया। भागवत कथा श्रवण करने काफी तादात में श्रद्धालु उपस्थित रहे। इस दौरान संगीतमय श्रीमद्भागवत कथा में भजनों पर श्रद्धालु थिरकने के लिए मजबूर हो उठे।इस दौरान सजीव झांकी सजाई गई।

कृष्ण- सुदामा की मित्रता के मार्मिक प्रसंगों पर श्रद्धालु हुए भाव विभोर। आचार्य पंडित बालमुकुंद महाराज के श्रीमुख से शनिवार को भागवत कथा का यजमानों द्वारा वैदिक मंत्रोच्चार के साथ पूजा अर्चना करवाकर संगीतमयी श्रीमद्भागवत सप्ताह ज्ञान यज्ञ का शुभारंभ किया गया। भागवत कथा के अवसर पर कृष्ण-सुदामा मिलन, की आकर्षक झांकी आकर्षण का केंद्र रही। इस दौरान आयोजन से जुड़े पांचू लाल साहू, अमरलाल साहू, गंगाराम साहू, बाबू लाल साहू द्वारा भागवत कथा की महाआरती के बाद प्रसादी का वितरण किया गया। भागवत कथा श्रवण करने कस्बे सहित निकटवर्ती गांवो के श्रद्धालुओं ने भागवत कथा का श्रवण किया।

खबरें और भी हैं...