समस्याओं पर चर्चा:शिक्षकों काे वेतन समय पर नहीं मिलने और कई समस्याओं पर की चर्चा

बौंली8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • राजस्थान शिक्षक संघ सियाराम के कार्यकारी जिलाध्यक्ष का बौंली में स्वागत

राजस्थान शिक्षक संघ सियाराम सवाई माधोपुर के कार्यकारी जिलाध्यक्ष सोहन लाल गुप्ता का बौली आगमन पर स्वागत किया गया। जिलाध्यक्ष के एक दिवसीय प्रवास कार्यक्रम में शिक्षकों ने विभिन्न समस्याओं को रखते हुए समाधान की मांग की। शिक्षकों ने जिलाध्यक्ष से पी.डी. मद के शिक्षकों का वेतन समय पर नहीं मिलने पर विचार रखें और पी.डी. मद को समाप्त कर सामान्य मद से शिक्षकों का वेतन आहरित किया जाने, पांचवीं-आठवीं बोर्ड परीक्षा रविवार में जो आयोजित की जा रही है उसकी एवज में कर्मचारियों को उपार्जित अवकाश दिलवाये जाने की मांग रखी।

शिक्षकों का प्रशिक्षण ग्रीष्मावकाश में नहीं करवाया जाए, उत्तर पुस्तिका की मूल्यांकन राशि को बढ़ाया जावे। जाकिर हुसैन ने पिछले 10 वर्षों से मूल्यांकन राशि एवं शिक्षक व केंद्राधीक्षक को मिलने वाला मानदेय में कोई बढ़ोतरी नहीं करने की बात कही, जबकि बोर्ड परीक्षा शुल्क प्रति 2 से 3 वर्ष बाद बढ़ाया जा रहा है तथा वर्तमान में ₹600 बोर्ड परीक्षा के लिए प्रति विद्यार्थी शुल्क लिया जा रहा है, दसवीं और बारहवीं कक्षाओं के बोर्ड सेंटर 15 से 20 किलोमीटर की दूरी पर है। जबकि कई वर्तमान विद्यालयों में बिल्डिंग सरकार द्वारा बनवा दी गई है,आगामी बोर्ड परीक्षाओं में बोर्ड सेंटर का पुनर्विचार कर छात्राओं को बोर्ड परीक्षा देने में जो दूरी की परेशानी बन रही है, उसका समाधान किया जाए। अब्दुल बारी ने कहा कि उप-प्रधानाचार्य पद पर पदोन्नति अति शीघ्र करने एवं बूथ लेवल अधिकारियों को चुनाव संबंधी कार्य के अलावा अन्य कार्य नहीं करवाया जाए,इस समय राजकीय( हिंदी माध्यम) स्कूलों को (अंग्रेजी माध्यम) महात्मा गांधी स्कूलों में परिवर्तन जिस तेजी से बढ़ रहा हैं, वह ग्रामीण जनता के लिए परेशानी का कारण बनता जा रहा है क्योंकि ग्रामीण परिवेश में अंग्रेजी माध्यम के स्कूल नहीं है। इसलिए गांव में प्राथमिक स्कूल अंग्रेजी माध्यम के अधिक से अधिक खोले जावे और व्याख्याताओं की आर.आर. पद पर पदोन्नति को वरिष्ठता सूची में समायोजन कर पदोन्नति वर्ष का निर्धारण किया जावे।

हंसराज मीणा ने बताया कि अध्यापकों का स्थानांतरण होने पर वरिष्ठता को यथावत रखा जावे और तृतीय श्रेणी शिक्षकों के ऑनलाइन फॉर्म भरवा रखे हैं उनका स्थानांतरण तबादला नीति से किया जावे। सत्र 22-23 के लिए सदस्यता अभियान कार्यक्रम शुरू करके बोली में उपशाखा गठन करने पर कार्यकारी जिलाध्यक्ष ने विचार रखें, जिसे सभी आगंतुक शिक्षकों ने पूर्ण मनोयोग से शिक्षक संघ (सियाराम) की उप शाखा का गठन कर अधिक से अधिक सदस्य जोड़ने का आश्वासन दिया। मीटिंग में जाकिर हुसैन, मोहम्मद मुस्लिम शिरवानी, अब्दुल कुद्दूस शिरवानी आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...