ट्रक की टक्कर से 2 दोस्तों की मौत:बाइक के साथ 100 मीटर घसीटता ले गया, ड्राइवर फरार

गंगापुर सिटी4 महीने पहले
ट्रक की टक्कर से बाइक सवार दो युवकों की मौत हो गई। पुलिस ने शवों का पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया। - Dainik Bhaskar
ट्रक की टक्कर से बाइक सवार दो युवकों की मौत हो गई। पुलिस ने शवों का पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया।

मांच निवासी दो दोस्त बचपन में आपस में मित्र बने। दोनों ने एक साथ पढ़ाई की और एक दूसरे के सुख दुख में हमेशा साथ रहने का वादा किया लेकिन किसे पता था कि दोनो दोस्तों की दर्दनाक मौत भी एक साथ हो जाएगी। गंगापुर-करौली नेशनल हाइवे सड़क मार्ग स्थित सलेमपुर पुलिस चौकी टोकसी पेट्रोल पंप के पास रविवार रात साढ़े ग्यारह बजे गैस सिलेंडर के भरे ट्रक की टक्कर से दोनों युवकों की मौत हो गई। ट्रक की टक्कर इतनी जबदस्त थी कि दोनों दोस्त बाइक सहित 100 मीटर तक ट्रक में फंस कर घीसटते चले गए। सूचना पर पहुंची पुलिस और ग्रामीणों ने काफी देर की मशक्कत के बाद ट्रक में नीचे फंसे दोनों युवक एवं बाइक को बाहर निकाला और गंगापुर अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टर ने खुशीराम को मृत घोषित कर दिया और शिव सिंह बैरवा ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। पुलिस ने सोमवार सुबह पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिए।

जानकारी के अनुसार खुशीराम जोगी निवासी मांच अपने गांव से गंगापुर सिटी रेलवे स्टेशन पर उसके दोस्त शिवसिंह बैरवा को लेने के लिए गंगापुर सिटी रेलवे स्टेशन पर आया था। शिवसिंह बैरवा केरल में मजदूरी का काम करता था। खुशीराम जोगी व शिवसिंह बैरवा दोनों बाइक से गंगापुर सिटी रेलवे स्टेशन से अपने गांव मांच जा रहे थे। इस दौरान गंगापुर-करौली नेशनल हाईवे पर सलेमपुर पुलिस चौकी टोकसी पेट्रोल पंप के पास रविवार रात 11.30 बजे करौली की और से गंगापुर सिटी की ओर आ रहा एक ट्रक ने बाइक को टक्कर मार दी और दोनों युवक को बाइक के साथ 100 फीट तक घसीटता ले गया। हादसे के बाद ट्रक ड्राइवर मौके से फरार हो गया। मृतक शिवसिंह बैरवा के बड़े भाई रमेश बैरवा ने गंगापुर सिटी कोतवाली थाने में मामला दर्ज कराया।

पत्नी एवं परिजनों से मिलने आ रहा था गांव
शिवसिंह बैरवा के भाई रमेश ने बताया कि 4-5 दिवस पहले केरल से राजी खुशी एवं खर्चा पानी पहुंचाने के लिए गांव आने के लिए शिवसिंह का फोन आया था। केरल से रवाना होने के बाद रविवार रात को खुशीराम को बाइक गंगापुर सिटी स्टेशन पर लाने के लिए कहा। जिससे दोनों रात को बस नहीं मिलने पर घर पहुंच सके। 11 बजे के करीब गंगापुर से गांव के लिए बाइक से रवाना हुए और 11:30 बजे के लगभग दुर्घटना में मौत हो गई।

भोले, पूर्ति, और लाली के सिर से उठा पिता का साया
12 वर्षीय बेटी पूर्ति ,7 वर्षीय भोले और 4 वर्षीय लाली के पिता खुशीराम जोगी की सड़क दुर्घटना में मौत होने से तीनों बच्चों के सिर से पिता का साया उठ गया। मृतक खुशीराम के बड़े भाई की दुर्घटना में पूर्व में मौत हो गई सबसे बड़ा घर का मुखिया यही था जिससे बच्चे एवं वृद्ध पिता के समक्ष रोजी रोटी का संकट भी पैदा हो गया है। दूसरी ओर मृतक शिव सिंह बैरवा तीन भाई हैं यह मझला था, जिसकी 2014 में शादी हुई थी।

बचपन से एक ही स्कूल में पढ़े-लिखे दोनों
मृतक शिवसिंह बैरवा और खुशीराम जोगी दोनों के परिजन पड़ोसी है। बचपन से साथ साथ गांव के स्कूल में 8वीं कक्षा तक पढ़े थे। दोनों ने 8वीं के बाद पढ़ाई छोड़ने के बाद गांव की पहाड़ियों में क्रेशर मशीनों पर भी जेसीबी चलाने एवं पत्थर खनन का कार्य किया था। इसलिए दोनों शुरू से ही दोस्त रहे। एक-दूसरे के सुख दुख के साथी थे और एक दूसरे पर जान छिड़कते थे।