जागरूकता शिविर:विधिक जागरूकता शिविर में वरिष्ठ नागरिकों को दी जैव विविधता की जानकारी

सवाई माधोपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सवाई माधोपुर के तत्वावधान में वरिष्ठ नागरिक गृह सवाई माधोपुर में विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में पीएलबी दिनेश कुमार बैरवा ने वरिष्ठ नागरिकों को बताया कि जैविक विविधता को अक्सर पौधों, जानवरों और सूक्ष्मजीवों की विस्तृत विविधता के संदर्भ में समझा जाता है।

लेकिन इसमें प्रत्येक प्रजाति के भीतर आनुवंशिक अंतर भी शामिल होता है, जैसे फसलों की किस्मों और पशुधन की नस्लों के बीच, पारिस्थितिक तंत्र की विविधता, झील-जंगल-रेगिस्तान-कृषि परिदृश्य जो अपने सदस्यों मनुष्यों, पौधों, जानवरों के बीच कई तरह की बातचीत की मेजबानी करते हैं। मानव आहार का 80 प्रतिशत से अधिक पौधों द्वारा प्रदान किया जाता है। विकासशील देशों में ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले 80 % लोग बुनियादी स्वास्थ्य देखभाल के लिए पारंपरिक पौधों पर आधारित दवाओं पर निर्भर हैं। इसके साथ ही पीएलवी ने नालसा व रालसा तथा केंद्र व राज्य सरकार द्वारा संचालित विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं सहित वरिष्ठ नागरिकों के अधिकारों के संबंध में जानकारियां दी।

खबरें और भी हैं...