दहेज प्रताड़ना का मामला:महिला थाने की वर्तमान व तत्कालीन थानाधिकारी के खिलाफ विभिन्न धाराओं में हुआ मामला दर्ज

सवाई माधोपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

न्यायालय मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सवाईमाधोपुर ने न्यायालय के समक्ष पेश एक इस्तागासा पर सुनवाई करते हुए महिला थाने की प्रभारी चंचल शर्मा व तत्कालीन थाना प्रभारी बृजबाला के खिलाफ धारा 219, 120बी, 167, 218 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज करने के कोतवाली थाना प्रभारी को आदेश दिए हैं। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।

प्रकरण के अनुसार शालू नायक पुत्री चन्द्रपाल नायक निवासी भोपाल नगर आदर्शनगर बी सवाईमाधोपुर ने न्यायालय मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष इस आशय का इस्तगासा दायर किया कि 11 जून 2020 को पुलिस अधीक्षक के समक्ष पति मोनू नायक वगैरह के विरुद्ध दहेज प्रताड़ना का परिवाद पेश किया था। परिवाद की जांच महिला थाने के हैड कांस्टेबल ने की थी। आरोपी पति मोनू नायक व ससुूर रमेश नायक ने अपनी गलती स्वीकार करते हुए परिवादिया को 50 रुपए के स्टाम्प व सादा पेपर पर भविष्य में दहेज की मांग तथा मारपीट नहीं करने का लिखकर दिया। शपथ पत्र को नोटेरी करवा तस्दीक करवाया गया। पति-पत्नी में सहमति हो जाने पर हैड कांस्टेबल व महिला थाना प्रभारी बृजबाला के समक्ष राजीनामा लिखा गया। इसके बाद पति व ससूर ने परिवादिया को ले जाने की ऐवज में दो लाख रुपए दहेज की मांग की। इस पर परिवादिया ने नए सिरे से 24 दिसम्बर 20 को आरोपियों द्वारा लिखे गए दहेज की मांग नहीं करने के शपथ पत्र को शामिल करते हुए एसपी को परिवाद दिया। पुलिस अधीक्षक ने महिला थाना प्रभारी बृजबाला को परिवाद पर कानूनी कार्रवाई के आदेश दिए। इसके बावजूद महिला थानाधिकारी ने आरोपियों से सांठगांठ कर लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से प्रकरण को कमजोर बनाने की नियत से 11 जून 20 को पेश किए गए परिवाद पर एफआईआर दर्ज की। महिला थाने की नई थाना प्रभारी चंचल शर्मा ने भी तत्कालीन थानाधिकारी का सहयोग करते हुए 22 दिसम्बर 21 को चार्जशीट न्यायालय सीजेएम के समक्ष पेश की व असल परिवाद 24 दिसम्बर 20 को शामिल पत्रावली किया। पीड़िता ने 29 जुलाई 21 को पुलिस अधीक्षक के समक्ष तत्कालीन थानाधिकारी बृजलता के विरुद्ध परिवाद पेश किया।

खबरें और भी हैं...