विवाद:सफाई और फोगिंग को लेकर नगर परिषद में सफाई निरीक्षक और पार्षदों में ठनी, नप कर्मचारी लामबंद, कमरों पर जड़े ताले

सवाई माधोपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर लगाया अभद्रता का आरोप, एसडीएम की समझाइश भी नहीं आई काम

गंगापुर सिटी शहर के वार्ड 43 में सफाई और फोगिंग को लेकर शिकायत करने पहुंचे पार्षद विकास ठेकला और हाल में सफाई निरीक्षक नियुक्त हुए पिंटू मीणा में ठन गई। विवाद बढ़ा तो कर्मचारियों ने विरोध जताते हुए कर्मचारी यूनियन के आह्वान पर नगर परिषद कार्यालय के कई कमरों पर ताले ठोक दिए। पार्षदों व कर्मचारियों ने एक दूसरे पर अभद्रता करने के आरोप लगाए। मामले को बढ़ता देख एसडीएम नरेन्द्र मीणा नगर परिषद पहुंचे और दोनों पक्षों से बात कर विवाद को सुलझाने का प्रयास किया लेकिन समझाइश के बाद भी बात नहीं बनी। पार्षदों की बैठक से कर्मचारियों को बाहर करने के बाद विवाद और बढ़ गया तो कर्मचारी यूनियन के आह्वान पर कर्मचारियों ने नगर परिषद कार्यालय में कई कमरों से कर्मचारियों को बाहर निकाल दिया और ताले ठोक दिए। इतना ही नहीं कार्य बहिष्कार कर हड़ताल का ऐलान कर दिया।

बैठक में बुलाया फिर अभद्र व्यवहार किया
विवाद के दौरान कर्मचारी एक कक्ष में एकत्रित हो गए। यहां कर्मचारी एक-दूसरे से चर्चा करते दिखे। इस दौरान नए आए सफाई निरीक्षक ने कहा कि बैठक के लिए कर्मचारियों को बुलाया गया और उनके साथ अभद्र व्यवहार किया गया। कर्मचारियों और अधिकारियों से अभद्रता करने पर जयपुर मेयर का हुआ हाल सबने देखा है।

पार्षदों की बैठक में कर्मचारियों के आने से बिगड़ी बात

विवाद के बाद मंगलवार को पहले पार्षद नगर परिषद में पहुंचे, जहां सभापति को ज्ञापन देकर कार्रवाई की मांग की। विवाद का हल नगर परिषद में ही निपटाने के लिए सभापति ने दोनों पक्षों को बुलाया और पहले पार्षदों से चर्चा की। इसी दौरान नप के कार्मिक बैठक में पहुंच गए, यहां किसी बात को लेकर पार्षद बबलू चौधरी ने कहा कि जब उनकी बैठक चल रही है तो फिर आपकों को अंदर किसने आने दिया। इस पर बात बिगड़ गई। पहले शिविर में और बाद बैठक के दौरान पार्षद-कर्मचारियों ने एक दूसरे पर अभद्रता का आरोप लगाया। पार्षदों ने बैठक में बिना बुलाए आए कर्मचारियों पर शराब पीकर आने व अनैतिक तरीके से बात करने का आरोप लगाते हुए कहा कि बैठक में महिला पार्षद भी बैठी हुई थी।
^विवाद पार्षद और नए सफाई निरीक्षक के बीच था, दोनों पक्षों को बिठाकर समझाकर विवाद खत्म कर दिया है।
नरेंद्र मीणा, एसडीएम, गंगापुर सिटी।
एसडीएम के जाते ही कर्मचारियों ने वार्ता को नकारा: इसके बाद जैसे ही एसडीएम नगर परिषद से रवाना हुए, उसी दौरान सफाई यूनियन और कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारियों ने कहा कि उनके साथ कोई वार्ता नहीं हुई है, जब तक पार्षद के द्वारा माफी नहीं मांगी जाती वे काम का बहिष्कार करेंगे और हड़ताल की जाएगी।

ये था मामला:राउमावि खेल मैदान में आयोजित प्रशासन शहरों के संग अभियान शिविर के दौरान वार्ड 43 के पार्षद विकास ठेकला सोमवार को वार्ड में सफाई और फोगिंग नहीं कराने की शिकायत लेकर हाल ही नियुक्त सफाई निरीक्षक पिंटू मीणा के पास पहुंचे। उन्होंने कहा कि बार बार कहने के बाद भी वार्ड में सफाई नहीं हो रही है। इस पर सफाई निरीक्षक ने कहा कि वे इस मामले को दिखवाते है, वे अभी यहां नए आए है। यहां पार्षद ने कहा कि किसी भी वार्ड में फोगिंग मत करना, मेरे वार्ड में तो आज ही फोगिंग की जाए, जिस पर सफाई निरीक्षक ने कहा कि वे प्राथमिकता के आधार पर काम करवा देंगे।

खबरें और भी हैं...