ग्रामीणों ने गांव को मित्रपुरा तहसील से हटाने की मांग:पीपल्दा ग्राम पंचायत को दुबारा बौंली में जोडंने के लिए किया प्रदर्शन

सवाई माधोपुर2 महीने पहले
एसडीएम को ज्ञापन देते ग्रामीण।

पीपल्दा ग्राम पंचायत के ग्रामीणों ने 2 सूत्री मांगों को लेकर बुधवार को बौंली के SDM कार्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया। ग्रामीणों ने पीपल्दा गांव को मित्रपुरा तहसील से हटाकर बौंली तहसील में जोड़े जाने व कल्याणपुरा क्षेत्र से अतिक्रमण हटाने की मांग को लेकर जमकर नारेबाजी भी की।

पंचायत समिति सदस्य प्रतिनिधि राजेंद्र पूर्विया ने बताया कि पीपल्दा कस्बा पूर्व में बौंली तहसील से जुड़ा हुआ था, लेकिन इसको बौंली तहसील से हटाकर मित्रपुरा तहसील में जोड़ दिया गया है। वहीं मित्रपुरा की दूरी पीपल्दा से 20 किलोमीटर है जबकि पीपल्दा गांव बौंली से महज 13 किलोमीटर है। प्रदर्शनकारियों ने बताया कि मित्रपुरा जाने के लिए वाहनों का अभाव है। ऐसे में पीपल्दा के लोगों को राजस्व संबंधित कार्यों के लिए मित्रपुरा जाना पड़ता है जो बेहद मुश्किल है। ग्रामीणों ने पीपल्दा कस्बे को दोबारा बौंली तहसील में ही जोड़े जाने की मांग की। इसी के साथ ही ग्रामीणों ने मोरेल नहर कल्याणपुरा वाले रास्ते पर अतिक्रमण को लेकर भी आक्रोश जाहिर किया।

ग्रामीणों ने बताया कि रास्ते पर कई दबंग लोगों ने अतिक्रमण कर लिया है। जिसकी शिकायत ग्रामीणों ने ग्राम पंचायत पर कई बार की है, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। ग्रामीणों के मुताबिक रास्ते में देवस्थान भी पड़ता है। जहां सैकड़ों की संख्या में लोग दर्शन के लिए आते हैं। ऐसे में रास्ते के दोनों और अतिक्रमण होने के चलते पैदल यात्रियों को खासी परेशानी होती है। ग्रामीणों ने SDM बद्रीनारायण मीणा को ज्ञापन सौंपकर अतिक्रमण हटाने की भी मांग की। ग्रामीणों ने दोनों ही मांगों को लेकर आक्रोश जाहिर करते हुए मामले में कार्रवाई की मांग की है। ग्रामीणों ने कार्रवाई नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी भी दी।