जनजागरूकता अभियान:सयानी बेटियां नाटक के मंचन से बालिकाओं को किया जागरुक

सवाई माधोपुर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सवाई माधोपुर। सयानी बेटियां नाटक के माध्यम से लोगों को जागरूक करते कलाकार। - Dainik Bhaskar
सवाई माधोपुर। सयानी बेटियां नाटक के माध्यम से लोगों को जागरूक करते कलाकार।
  • 14 मई को राष्ट्रीय लोक अदालत के बारे में लोगों को दी जानकारी

महिला अधिकारिता विभाग, पंचायती राज, यूएनपीए व सीकोईडीकॉन के सहयोग से रसरंग मंच संस्था के कलाकारों द्वारा सवाई माधोपुर की ग्राम पंचायत गंभीरा, जीनापुर और रामड़ी मे बालिका और महिला अनुकूल ग्राम पंचायत अभियान का शनिवार को आरंभ हुआ। इस अभियान के अंतर्गत सवाई माधोपुर की 94 ग्राम पंचायतों में लघु नाटक सयानी बेटियां के प्रदर्शन द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, बाल विवाह एक अभिशाप और बेटा बेटी एक समान विषयों पर जन जागरूकता का कार्य किया जाएगा।

जिले के ब्लॉक पर नाटक सयानी बेटियां के प्रदर्शन में विभिन्न दृश्यों द्वारा महिलाओं एवं लड़कियों काे साफ सफाई के महत्व, उड़ान योजना के फायदे, बाल विवाह के दुष्परिणाम एवं पोक्सो व पीसीपीएनडीटी एक्ट के विषय में रोचक अंदाज में दर्शाया गया। इस अवसर पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अंतर्गत 14 मई को होने वाले राष्ट्रीय लोक अदालत के आयोजन के बारे में ग्राम पंचायत में लोगों को जनजागरूकता अभियान के तहत जागरूक किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे श्याम सुन्दर शर्मा, ओम प्रकाश मीणा एवं ब्लॉक कॉर्डिनेटर वसीम खान ने प्रत्येक ग्राम पंचायत में कार्यक्रम का आयोजन करवाया, जिसमें ज्यादा से ज्यादा गांव के महिला व पुरुषों की भागीदारी रही। सीकोई डेकोन के निदेशक पी.एम. पॉल म ने कहा कि महिलाएं हमारे समाज का आधार स्तंभ है। बेटा व बेटी को समान समझा जाना चाहिए, तभी हमारा समाज सशक्त बनेगा और तरक्की कर पाएगा। नाटक सयानी बेटियां का लेखन व निर्देशन हिमांशु झांकल ने किया व सुमित आशीवाल, केतन नार्वे, अमित सिंह, शानू तिवारी और विकास त्यागी ने अभिनय किया। इस अभियान के अंतर्गत लघु नाटक सयानी बेटियों के प्रदर्शन 29 मई तक लगातार सवाई माधोपुर की ग्राम पंचायतों पर किए जाएंगे।

खबरें और भी हैं...