• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sawai madhopur
  • In 4 Private Schools Of Surwal, 162 Children Belonging To RTE Are Shown Dead In The Portal, The School Operators Are In Shock, The Officers Are Cutting Their Heads

बच्चों का भविष्य संकट:सूरवाल के 4निजी स्कूलों में आरटीई से जुड़े 162बच्चों को पोर्टल में दर्शाया मृत, स्कूल संचालक सकते में, काट रहे हैं अफसरोंं के चक्कर

सवाई माधोपुर18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सरकार शिक्षा के अधिकार (आरटीई) के तहत निशुल्क प्रवेश देती है, लेकिन आरटीई के पोर्टल पर कई खामियों के कारण बच्चों एवं स्कूल संचालकों के लिए परेशानी खड़ी हो गई है। सूरवाल गांव में 4 निजी स्कूल ऐसे है जिनमें पढ़ने वाले आरटीई से जुड़े 162 बच्चों का भविष्य संकट में है। कक्षा एक से 8 तक में आरटीई के तहत पढ़ने वाले सभी बच्चों का नाम पोर्टल की साइट में मृत दर्शाया गया जिससे स्कूल संचालक सकते में आ गए है। निजी स्कूल संचालकों ने अधिकारियों से लेकर जनप्रतिनिधियों को इस समस्या से अवगत कराया, लेकिन कोई सुधार नहीं हो पाया है।

इन प्राइवेट स्कूलों के बच्चों के साथ हुई गड़बड़ी
सूरवाल के स्मार्ट ड्रीम पब्लिक स्कूल में 38, भांवरा पब्लिक स्कूल में 22, मार्डन इकरा पब्लिक स्कूल 44 और रॉयल यूपीएस सूरवाल में 58 बच्चे सहित चारों स्कूल में कुल 162 बच्चों का रिकार्ड पोर्टल में मृत्यु का कारण दर्शा कर नाम पृथक कर दिए गए है।

जांच दल से कराया भौतिक सत्यापन, फिर भी सुधार नहीं
जिला शिक्षा विभाग ने हाल ही स्कूल संचालकों की शिकायत पर जांच दल गठित कर तीन स्कूलों का भौतिक सत्यापन करवाया। निदेशक प्रारभिंक शिक्षा बीकानेर को भी पत्र भेजकर पोर्टल पर हो रही गड़बड़ी की सूचना दी। मगर गड़बड़ी में अभी तक कोई सुधार नहीं हो पाया जिससे पढ़ने वाले बच्चों का भविष्य चिंता का विषय बनता जा रहा है।

पत्र भेजकर अधिकारियाें काे अवगत करा दिया है : डीईओ
सूरवाल के स्कूल संचालकों ने आरटीई पोर्टल से संबंधित गड़बड़ी से अवगत कराया था। संबंधित समस्या समाधान के लिए निदेशालय बीकानेर और शिक्षा संकुल उच्च अधिकारियों को पत्र भेजकर अवगत करा दिया गया है।
- गोविन्द्र दीक्षित, जिला शिक्षा अधिकारी (प्रारंभिक)

खबरें और भी हैं...