कैनाल परियोजना:पूर्वी राजस्थान कैनाल परियोजना को राष्ट्रीय महत्व की परियोजना घोषित करवाने के लिए सौंपा ज्ञापन

सवाई माधोपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पूर्वी राजस्थान कैनालद् परियोजना को राष्ट्रीय महत्व की परियोजना घोषित करवाने के लिए राष्ट्रीय जन समर्थन पार्टी के कार्यकर्ताओं के द्वारा प्रधानमंत्री के नाम उप जिला मजिस्ट्रेट कार्यालय चौथ का बरवाड़ा में ज्ञापन दिया गया। कार्यकर्ताओं ने बताया कि पूर्वी राजस्थान कैनाल परियोजना को राष्ट्रीय महत्त्व की परियोजना घोषित करवाने के लिए राष्ट्रीय जन समर्थन पार्टी पिछले एक वर्ष से लगातार संघर्ष कर रही है। यह परियोजना अति महत्वाकांक्षी परियोजना है, जो कि पूर्वी राजस्थान के लोगों के लिए जीवनदायिनी साबित होगी। इसे लेकर पार्टी के कार्यकर्ता के द्वारा अक्टूबर 2021, दिसंबर 2021, जनवरी 2022 मे प्रधानमंत्री के नाम और केंद्रीय जल संसाधन मंत्री के नाम पूर्वी राजस्थान के सभी जिला मुख्यालयों एवं उप जिला मजिस्ट्रेट कार्यालय के माध्यम से ज्ञापन देते रहे हैं।

भारत सरकार के द्वारा पिछले महीने में दिए गए जवाब में स्पष्ट कर दिया कि यह परियोजना राष्ट्रीय महत्त्व की परियोजना घोषित करने का मापदंड पूरा नहीं कर रही है, इसलिए इस परियोजना को राष्ट्रीय महत्व की परियोजना घोषित नहीं किया जा सकता है। इसी के विरोध में राष्ट्रीय जन समर्थन पार्टी के कार्यकर्ता पूर्वी राजस्थान के सभी जिला मुख्यालयों और जिला मजिस्ट्रेट कार्यालय मुख्यालय पर ज्ञापन दिए जा रहे हैं। इसी कड़ी में राष्ट्रीय जन समर्थन पार्टी के कार्यकर्ताओं के द्वारा चौथ का बरवाड़ा उप जिला मजिस्ट्रेट एवं कलेक्टर को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन दिया गया और जल्दी से जल्दी इस परियोजना को राष्ट्रीय महत्व की परियोजना घोषित किए जाने की मांग की। ज्ञापन देने वालों में दिलराज गुर्जर, जल सिंह गुर्जर, मुकेश गुर्जर, मुकेश मीणा, रामअवतार गुर्जर, रामविलास गुर्जर, भंवर लाल गुर्जर, हनुमान गुर्जर, राधेश्याम गुर्जर, कैलाश मीणा, भरत लाल मीणा आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...