अतिक्रमण:बालिका स्कूल के लिए आवंटित जमीन पर सरपंच ने बनाया मकान लोगों ने की शिकायत

सवाई माधोपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चकेरी गांव में बालिका विद्यालय के आवंटित भूमि पर स्थानीय ग्राम पंचायत सरपंच ने देखते ही देखते मकान खडा कर लिया और प्रशासन सोता रह गया। बालिका शिक्षा को बढावा देने के लिए वर्ष 2001 में आवंटित इस जमीन को अतिक्रमण मुक्त करवाने के लिए ग्रामीणों ने संबंधित अधिकारियों से शिकायत भी की लेकिन दबंग सरपंच के आगे प्रशासन ने आज कार्रवाई के लिए हिम्मत तक नहीं दिखाई। ग्रामीणों ने बताया कि गांव में एक ही सरकारी विद्यालय है।

कस्तूरबा आवासीय छात्रावास की बालिकाएं भी इसी स्कूल में पढती है। बालिका शिक्षा को बढावा देने के लिए वर्ष 2001 में चकेरी में आबादी के बीच खाली पडी जमीन पर बालिका विद्यालय निर्माण के लिए जमीन आवंटित की गई थी। इसके लिए 5 मार्च 2002 को प्रशासन गांवों के संग शिविर में जिला कलेक्टर के आदेश से स्कूल के प्रधानाध्यापक के प्रार्थना पत्र पर पट्टा जारी किया गया था। इस पट्टे पर तत्कालीन सरपंच नरेंद्र सिंह एवं सचिव के हस्ताक्षर है।

चकेरी निवासी महावीर प्रसाद शर्मा ने बताया कि इस संबंध में उन्होंने 181 पर शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में उन्होंने बताया कि सरपंच द्वारा अपने पद के प्रभाव के कारण कई जगहों पर कब्जा जमा रखा है। गरीब एवं बेसहारा लोग सरपंच की दबंगता के कारण बोल नहीं सकते। उन्होंने बालिका विद्यालय के भूखंड को खाली करवाकर चारदीवारी करवाने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...