पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जांच कमेटी ने माना-पोषाहार में बांटा था घटिया चना:कलेक्टर के निर्देश पर गठित जांच कमेटी के सदस्यों ने की घुण लगे चनों के वितरण की जांच

बिसाऊ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बिसाऊ. आंगनबाड़ी केंद्र से खराब चने ले जाने वालों के बयान लेती टीम। - Dainik Bhaskar
बिसाऊ. आंगनबाड़ी केंद्र से खराब चने ले जाने वालों के बयान लेती टीम।

कलेक्टर यूडी खान के निर्देश पर मलसीसर एसडीएम शकुंतला चौधरी की अध्यक्षता में गठित जांच कमेटी के सदस्यों ने पिछले दिनों आंगनबाड़ी केंद्रो में गर्भवती महिलाओं को बांटे गए घूण लगे चने के मामले की जांच की। अलसीसर पंचायत समिति बीडीओ गोपीराम महला, रसद विभाग के प्रवर्तन अधिकारी कमल मीणा, सीडीपीओ उषा कुल्हरी ने पुराने वार्ड 18 के खटीकों की स्कूल में संचालित आंगनबाड़ी केंद्र में कार्यकर्ता व पोषाहार ले जाने वाले लाभार्थियों के बयान लिए।

इस दौरान राशन डीलर से भी पूछताछ की। जांच अधिकारी बीडीओ ने माना कि बांटे गए चने घटिया क्वालिटी के थे। जांच में ये भी सामने आया कि डीलर ने तो चने ठीक दिए थे लेकिन कोरोना की वजह से एक माह तक आगंनबाड़ी केंद्र पर पड़े रहने से चनों में घुण लग गया। आगंनबाड़ी कार्यकर्ता की लापरवाही रही कि उसने डीलर से चने लेते समय सभी कट्टे खोलकर नहीं देखे।

भविष्य में ऐसी गलती नहीं हो इसके लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को पाबंद कर दिया गया है। लापरवाही करने वाली कार्यकर्ताओं को नोटिस भी दिए जाएंगे। सीडीपीओ का कहना है कि घुण लगे चना वितरण में लापरवाही बरतने वाली वार्ड 6, 14, 18 की आगंनबाड़ी कार्यकर्ताओं को 9 जून को नोटिस दिए जा चुके हैं।

अब वार्ड 18 के आंगनबाड़ी केंद्र पर बाल मातृ समिति का गठन किया गया है। इस मौके पर आंगनबाड़ी केंद्र की सैक्टर प्रभारी विमला, पूर्व पार्षद विलास सैनी, पूर्व पार्षद कपिलेश शर्मा, एडवोकेट पवन कुमार धौलपुरिया, सत्यनारायण खटीक आदि भी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...