पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अनलॉक की तैयारी:चूरू व सरदारशहर डिपो की 30 फीसदी बसें 10 जून से चल सकती हैं, आज से खुलेगा कार्यालय

चूरू17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीएमडी ने डिपो प्रबंधकों को सोमवार को कार्यालय खोलने के निर्देश दिए, ऐसे में बसों के संचालन की संभावना

आठ जून से प्रदेश के अनलॉक होने एवं हाल ही में राज्य सरकार की गाइडलाइन को देखते हुए 10 जून से चूरू और सरदारशहर डिपो की सीमित संख्या में बसों का संचालन शुरू होने की संभावना है। रोडवेज सीएमडी ने 7 जून से सभी डिपो के कार्यालय खुलने एवं 50 फीसदी कार्मिक को ऑफिस में बुलाने के निर्देश दिए हैं। ऐसे में डिपो के कार्मिक 10 जून से रोडवेज बसों के संचालन शुरू होने की संभावना से इनकार नहीं कर रहे हैं।

काेराेना केस बढ़ने के बाद प्रदेश में लगे लाॅकडाउन से जिले में राेडवेज व प्राइवेट काे मिलाकर 500 साै बसाें के पहिए थमे हुए हैं। प्रदेश में 3875 बसें का संचालन लाॅकडाउन से पहले हाेता था। राेजाना करीब पाैने पांच कराेड़ का राजस्व मिलता था।

लॉकडाउन के चलते डिपो ने 50 फीसदी से अधिक बसों को डीटीओ में सरेंडर किया
लॉकडाउन में मुख्यालय के निर्देशानुसार खड़ी बसों का टैक्स चुकाने से बचने के लिए चूरू व सरदारशहर डिपो ने अनुबंध बसों को छोड़कर अन्य बसों में से 50 फीसदी से अधिक को डीटीओ में सरेंडर कर दिया। कार्मिकों का कहना है कि राज्य सरकार एक साथ सारी बसें चलाने की परमिशन नहीं देगी, ऐसे में सरेंडर बसों जुलाई तक छुड़ाई जा सकती है। बची हुई 30 से 40 फीसदी बसें ही मुख्य रूट पर चलेगी।

इधर, राेडवेज के मुताबिक दोनों डिपाे की 100 एवं 40 अनुबंध की बसाें के संचालन से राेजाना 15-16 लाख रुपए की आय हाेती थी। उधर, 50 बसें लाेक परिवहन, 20 नाइट सर्विस, 100 ग्रामीण रूट व 200 बस अन्य जिलाें में राेज अपडाउन करती हैं। इनके संचालन से ऑपरेटर्स काे राेज करीब 50 लाख रुपए की आय हाेती थी। राेडवेज काे एक माह बसाें के संचालन नहीं हाेने से करीब 145 कराेड़ रुपए का घाटा हाेगा।

राेडवेज बसाें का संचालन दस जून से किए जाना प्रस्तावित है। सरकार ने अभी गाइड लाइन जारी नहीं की है। 50% यात्रीभार के साथ बसें चलेगी। अभी फैसला नहीं हुआ है। इंटर स्टेट जाने वाली राेडवेज बसें चलना तभी संभव हाेगा, जब उस राज्य की सरकार परमिशन देगी। संचालन काे लेकर सभी तैयारियां कंपलीट हैं।
-सुधीर भाटी, पीआरओ, राेडवेज

प्राइवेट : जुलाई तक ट्रैफिक नहीं मिलेगा, बस चलाना संभव नहीं
एक महीने से बसाें का संचालन बंद है। सरकार गाइडलाइन में 50% यात्रीभार के साथ बसें चलाने की स्वीकृति देगी। यात्रियों में भी अब भय है। ऐसे में जुलाई तक ट्रैफिक नहीं मिलेगा। वर्तमान किराए में बसें चलाने संभव नहीं है। मई से जुलाई तक का टैक्स माफ की मांग करें।
रणवीर कस्वां, अध्यक्ष, बस ऑपरेटर एसाेसिएशन

खबरें और भी हैं...