शुक्रवार को दशहरा होने से खरीदारी वैभव की प्रतीक:दशहरे पर आज 50 करोड़ रु‌. के कारोबार की उम्मीद

चुरूएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
युवाओं का रुझान दुपहिया वाहनों व मोबाइल की ओर। - Dainik Bhaskar
युवाओं का रुझान दुपहिया वाहनों व मोबाइल की ओर।
  • ऑटो मोबाइल, ज्वैलरी व कपड़ों की खरीद में लोगों का ज्यादा रुझान

विजयदशमी पर सभी कार्य शुभ रहेंगे। इस बार शुक्रवार को दशहरा होने के कारण खरीदारी वैभव की प्रतीक मानी गई। चांदी की खरीद को सबसे शुभ माना है। अकेले दशहरा पर ऑटो मोबाइल, ज्वैलरी, रेडीमेड एवं कपड़ा सहित अन्य की करीब 50 करोड़ की बाजार में खरीदारी की उम्मीद है। नवरात्र से लेकर दशहरे तक बाजार में 200 करोड़ का कारोबार होने की संभावना है।

पं. पंकज चोटिया का कहना है कि दशहरे पर पूरा दिन खरीदारी के लिए शुभ है। इसके साथ विवाह-शादियों के लिए लोग अभी से खरीदारी कर रहे हैं। इसमें कपड़े से लेकर ज्वैलरी तक शामिल है। नवरात्रा के बाद दीपावली व बाद में देव उठनी एकादशी व शादी-समारोह सहित अन्य मांगलिक आयोजन होंगे।

कोरोना का संकट कम होने से भी लोग अब बिना डर के त्योहार के लिए खरीदारी करने के लिए बाहर निकल रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में खरीफ फसलों की कटाई का काम भी करीब-करीब पूरा हो चुका है, ऐसे में गांवों से भी लोग शहरों में खरीदारी करने के लिए पहुंच रहे हैं।

आज इस तरह आएंगे 50 करोड़

ऑटोमोबाइल 25 करोड़ ज्वैलरी 15 करोड़ इलेक्ट्रोनिक 05 करोड़ कपड़ा/रेडीमेड 02 करोड़ अन्य 03 करोड़

  • त्योहारी सीजन में सबसे अधिक दुपहिया वाहनों की बिक्री बढ़ी। नवरात्रा में कारोबार 55 करोड़ के पार पहुंच गया है। दशहरे पर 20 से 25 करोड़ की खरीदारी की उम्मीद है। राज मोटर्स के राकेश कसावा ने बताया कि दशहरे पर 35 दुपहिया वाहनों की बुकिंग हो चुकी है, जबकि पूरे दिन जिले में करीब 20 से 25 करोड़ की खरीदारी होने की संभावना है।
  • कपड़ा व्यापार मंडल अध्यक्ष सुनील भाऊवाला ने बताया कि जिले में नवरात्र में अब तक के कपड़ों का करीब 40 करोड़ का व्यापार हुआ है। दशहरे पर एक से दो करोड़ की खरीदारी होगी। कपड़ों की खरीदारी अब लगातार चलेगी, क्योंकि शादी समारोह शुरू होने वाले हैं।
  • ज्वैलर्स राकेश सोनी ने बताया कि नवरात्र में जिले में करीबन 70 करोड़ का कारोबार हुआ। दशहरे पर करीब 20 करोड़ की उम्मीद है। शादियों के सीजन की बुकिंग भी अभी से शुरू हो गई है तथा लगातार चल रही है।

खरीदारी का मुहूर्त

  • चर का चौघड़िया : सुबह 10.50 से 12.15 बजे तक
  • लाभ का चौघड़िया : दोपहर 12.15 से 2.10 बजे तक
  • अमृत का चौघड़िया : दोपहर-1.45 से 3.08 बजे तक, शाम-4.34 से 6.00 बजे तक
  • अभिजीत मुहुर्त : सुबह 11.53 से 12.39 बजे

आज अभिजीत मुहूर्त में होगा शस्त्रपूजन

विजयदशमी को शेखाजी की जयंती बणीर राजपूत छात्रावास में मनाई जाएगी। बणीर स्मारक समिति अध्यक्ष पदमसिंह राठौड़ ने बताया कि बणीर छात्रावास में 11 बजे शेखाजी व बणीरजी की जयंती मनाएंगे। अभिजीत मुहूर्त में शस्त्र पूजन होगा। शेखावत कॉलोनी में करणी मां मंदिर में सुबह 8.30 बजे कार्यक्रम होगा।
शस्त्रपूजन का मुहूर्त : अभिजीत : सुबह 11.55 से 12.15 बजे तक। शुभ का चौघड़िया-शाम 4.30 से 6 बजे तक व सुबह 10.30 बजे से पहले।

रेलवे कॉलोनी नहीं होगा रावण के पुतले का दहन
चूरू रेलवे कॉलोनी हनुमान मंदिर में होने वाली रामलीला व रावण के पुतले का दहन नहीं होगा। समिति के रमेश शर्मा ने यह जानकारी दी।

आतिशबाजी पर रोक से जिले में 15 करोड़ का व्यापार होगा प्रभावित

जिले में 125 बड़े लाइसेंसधारी पटाखा व्यवसायी, दो साल में व्यापार पूरी तरह ठप, रोक हटाने की सरकार से मांग

कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए राज्य सरकार ने लगातार दूसरे साल दीपावली पर आतिशबाजी पर रोक लगा दी है। सरकार के इस आदेश से पटाखा व्यापारी परेशान हैं। जिले में पटाखों का व्यवसाय करने वाले करीब 125 बड़े लाइसेंसधारी व्यापारी हैं। 100 के करीब छोटे व्यापारी हैं। गली-मोहल्लों में करीब एक हजार छोटे दुकानदार हैं, जो सरकार के इस आदेश से सीधे प्रभावित होंगे। अधिकांश व्यापारियों के पास पिछले साल का स्टॉक पड़ा है, कुछ ने इस बार दीपावली पर अच्छी बिक्री की उम्मीद से ओर स्टॉक मंगवा लिया।

पटाखा व्यापारी मुन्ना भाई पटाखेवाला ने बताया कि जिले को कोरोनामुक्त हुए कई माह हो चुके हैं, प्रदेश में भी कोरोना के कम ही केस हैं। सरकार सभी व्यवसाय व व्यवस्थाओं में छूट दे रही है, लेकिन आतिशबाजी पर लगातार दूसरे साल रोक लगाकर पटाखा व्यापारियों का कारोबार ठप कर दिया है। दो साल से करोड़ों रुपए का स्टॉक पड़े-पड़े खराब हो रहा है। इस बार नुकसान की भरपाई की उम्मीद थी। पटाखा व्यापारी मुन्ना भाई ने बताया कि इस बार दीपावली पर जिले में करीब 15 करोड़ रुपए का आतिशबाजी का काराेबार होने की उम्मीद थी। पिछले साल भी जिले में करीब 10 करोड़ रुपए का व्यापार प्रभावित हुआ था। इस बार पटाखों की रेट में 25% की बढ़ोतरी हो गई, किराया भी बढ़ा है।

बेचने पर 10 तथा चलाने पर दो हजार का जुर्माना

राज्य सरकार ने पटाखों की बिक्री व आतिशबाजी पर रोक के साथ ही जुर्माने का प्रावधान किया है। पटाखों की बिक्री पर संबंधित पर 10 हजार का जुर्माना लगेगा। कोई व्यक्ति पटाखा चलाते पकड़ा गया तो दो हजार रुपए जुर्माना लगेगा।

राठौड़ ने सीएम को लिखा पत्र, रोक हटाने की रखी मांग

उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने सीएम को पत्र लिखकर पटाखा कारोबारियों की विषम परिस्थितियों को देखते हुए पटाखों की बिक्री व आतिशबाजी पर लगाई गई रोक हटाने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...