मेडिकल टीम घर-घर जाकर लगाएगी वैक्सीन:5 सदस्यों की 60 टीम हर वार्ड में जाकर करेगी टीकाकरण, डॉक्टर करेंगे निगरानी

चूरू4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डीबी अस्पताल में बूस्टर डोज लगवाते डॉक्टर। - Dainik Bhaskar
डीबी अस्पताल में बूस्टर डोज लगवाते डॉक्टर।

कोरोना की तीसरी लहर में लगातार केस बढ़ते जा रहे है। संक्रमितों में युवाओं की संख्या सबसे ज्यादा है। हालांकि दोनों वैक्सीन लगे हुए मरीज जल्दी ठीक हो रहे हैं। अब मेडिकल टीम घर-घर जाकर वैक्सीन लगाएगी। बढ़ते मामलों को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने सैंपलिंग भी बढ़ा दी है।

चूरू बीसीएमएचओ डॉ. जगदीश सिंह भाटी ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीम रविवार से घर-घर जाकर वैक्सीन लगाएगी। यह अभियान रविवार सुबह से चलाया जाएगा। 60 वार्डों के लिए 60 टीम बनाई गई है। हर टीम में 5 सदस्य होंगे, जिसमें एक एएनएम, एक आशा सहयोगिनी, दो सीएचए और एक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता शामिल होंगे। टीम के सदस्य हर घर जाकर वैक्सीन लगे होने के बारे में जानकारी लेंगे। वैक्सीन नहीं लगे होने पर मौके पर ही डोज लगाया जाएगा।

शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन का लक्ष्य
चूरू ब्लॉक के कोरोना प्रभारी डॉ. अहसान गौरी ने बताया कि शहर के हर वार्ड के लिए पांच सदस्यीय टीम का गठन किया गया है। 15-17 उम्र के बच्चे को को-वैक्सीन लगाया जाएगा। 60 से ज्यादा उम्र के लोगों को (दोनों डोज लगे हुए) बूस्टर डोज लगाया जाएगा। उन्होंने बताया कि चूरू ब्लॉक को शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

दोनों वैक्सीन रखेंगे साथ
डॉ. अहसान गौरी ने बताया कि हर टीम को कोविड शील्ड और को-वैक्सीन दोनों लगाई जाएगी। टीम के सदस्य अपने-अपने वार्ड में शत-प्रतिशत टीकाकरण करेंगे। अगर वार्ड में कहीं वेक्सीन कम रहती है तो टीम को तुरन्त वैक्सीन उपलब्ध करवाई जाएगी। 60 वार्डों के लिए 12 डॉक्टर भी लगाए गए है। डॉक्टर पांच वार्डों की निगरानी रखेगा।