पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

टिड्डियों का आतंक:जिले में टिड्‌डी के बाद अब एक सप्ताह से फाका बना हुआ है मुसीबत, तारानगर, सरदारशहर व चूरू में सबसे अधिक खतरा

चूरूएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कृषि विभाग की टीमों ने अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई की, 77 गांवों के 3396 हैक्टेयर में किया छिड़काव

खरीफ फसलों के अच्छे उत्पादन की उम्मीद पाले बैठे जिले के किसानों की समस्याएं लगातार बढ़ती जा रही है। दो माह से टिडि्डयों को भगाने में जुटे किसानों के लिए अब बीते एक सप्ताह से हॉपर (फाका) नई मुसीबत बन गया है। शुक्रवार को कृषि विभाग की अलग-अलग टीमों ने अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई की। टीमों ने 77 गांवों में कुल प्रभावित 4718 हैक्टेयर में से 3396 हैक्टेयर में कीटनाशक का छिड़काव किया। सहायक निदेशक कृषि विस्तार सुरेंद्र कुमार मारू ने बताया कि एक सप्ताह से अब टिडि्डयों का प्रकोप कम होने लगा है, लेकिन अब हॉपर (फाका) का खतरा बढ़ रहा है। सरदारशहर, चूरू व तारानगर का क्षेत्र सबसे अधिक प्रभावित हो रहा है। शुक्रवार को तारानगर ब्लॉक के 26, चूरू ब्लॉक के 16, सरदारशहर ब्लॉक के 14, राजगढ़ ब्लॉक के चार, रतनगढ़ ब्लॉक के सात, बीदासर ब्लॉक के आठ व सुजानगढ़ ब्लॉक के दो गांवों में 234 ट्रेक्टर माउंटेड स्प्रेयर, सात लो प्रेशर व 30 सर्वे वाहन से कुल 805 हैक्टेयर में कीटनाशक का छिड़काव किया गया।

इनमें से 2907 हैक्टेयर कृषि व 489 हैक्टेयर अकृषि क्षेत्र था। 962 किसानों की फसल प्रभावित हुई। सहायक निदेशक ने बताया कि किसान विभागीय एडवायजरी के माध्यम से स्वयं के स्तर पर भी फाका नियंत्रण कर सकते हैं। टिडि्डयों के पूर्व में पड़ाव के स्थानों पर 10 से 12 दिनों बाद फाका निकलता है, जो लगातार तीन से चार दिन तक निकलता रहता है।

किसान पांच से छह किलो मेलाथियान पांच प्रतिशत पाउडर, फेनवेलरेट 0.4% या क्यूनालफोस 1.5% पाउडर बराबर मात्रा में राख में मिलाकर प्रति बीघा के हिसाब से बुरकाव सकते हैं। फाका झुंड के रूप में फुदकते हुए आगे बढ़ता है, ऐसे में किसान उनसे रास्ते में खाई खोदकर उन्हें गड्ढ़ों में गिराकर व ऊपर से मिट्‌टी डालकर नष्ट कर सकते हैं।

इन गांवों में टीमों ने किया कीटनाशक का छिड़काव
सरदारशहर के पातलीसर बड़ा, देगा, देराजसर, आसपालसर बड़ा, भोजासर, ढाणी तेतरवाल, बोघेरा, शिमला, गिडगिचिया, फोगां, मेलूसर, रातुसर, खेजड़ा, बुकनसर बड़ा, राजगढ़ के महलाणा, चेलाणा बास, दातली, सिद्धमुख, रतनगढ़ के पाबूसर, लघासर, लूंछ, मोलीसर छोटा, बीका की ढाणी, जांदवा व भानूंदा, चूरू के दूधवाखारा, चलकोई बणीरोतान, चलकोई बीकान, खींवासर, आसलेखड़ी, सुरतपुरा, श्यामपुरा, सातड़ा, कोटवाद टिब्बा आदि , बीदासर के डूंगरास आथुणा, लालगढ़, जोगलसर, कल्याणसर, ईयारा, तेहनदेसर, रेड़ा, सारंगसर, सुजानगढ़ के डूंगर बालाजी व जिली तथा तारानगर के ढाणा भाकरान, खरतवासी, चलकोई खिचडान, सहित कई गांवों में कीटनाशक का छिड़काव किया।

सिद्धमुख : खरीफ फसलों को नुकसान पहुंचा रहा फाका
आसपास के गांवों में फाका खरीफ फसलों को नुकसान पहुंचा रहा है। किसान रमेश कुमार, सुल्तान, राजकुमार, महावीर आदि ने बताया कि दवा के छिड़काव के बावजूद फाका नष्ट नहीं हो रहा है। शुक्रवार को सिद्धमुख, ढाणी छाेटी, मलवास, बिरमीखालसा, बिरमी पटटा में फाका का प्रभाव रहा।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें