• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Churu
  • Before The Arrival Of The Minister In Charge, The Divyang And Former Councilors Were Face To Face In The Municipal Council For Half An Hour Of Commotion.

पट्‌टा वितरण कार्यक्रम:प्रभारी मंत्री के आने से पहले नगरपरिषद में आधे घंटे हंगामा प्रदर्शन को लेकर दिव्यांग और पूर्व पार्षद हुए आमने-सामने

चूरू17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आपस में उलझते रॉयल विकलांग सेवा संस्थान प्रदेशाध्यक्ष व पूर्व पार्षद। - Dainik Bhaskar
आपस में उलझते रॉयल विकलांग सेवा संस्थान प्रदेशाध्यक्ष व पूर्व पार्षद।
  • हंगामे के बाद पहुंचे प्रभारी मंत्री भाटी ने सुनी दिव्यांगाें की समस्याएं, ज्ञापन लेकर स्कूल में विशेष शिक्षक लगाने की सिफारिश की

जिला के प्रभारी मंत्री भंवरसिंह भाटी के गुरुवार को नगरपरिषद में पट्‌टा वितरण कार्यक्रम से पहले प्रदर्शन की बात को लेकर पूर्व पार्षद व रॉयल विकलांग सेवा संस्थान प्रदेशाध्यक्ष के बीच तकरार हाेने के कारणा करीब आधे घंटे हंगामा हुआ। दोनों एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप करते हुए गाली-गलौच तक पर उतर आए।

हुआ यूं कि रॉयल विकलांग सेवा संस्था के प्रदेशाध्यक्ष अख्तर खान व दिव्यांग राजकीय शारदा उप्रावि में विशेष आवश्यकता वाले बच्चों को पढ़ाने के लिए विशेष शिक्षक लगाने की मांग कर रहे हैं। वे प्रशासन, शिक्षा विभाग, शिक्षा मंत्री व प्रभारी मंत्री को ज्ञापन दे चुके, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। गुरुवार को प्रभारी मंत्री का नगर परिषद में कार्यक्रम होने की सूचना मिलने पर उनका प्रतिनिधिमंडल वहां पहुंचा। नगर परिषद के अंदर बीच रास्ते में प्रतिनिधिमंडल बैठ गया और प्रदर्शन की बात कहने लगा।

उपस्थितजनों ने समझाने का प्रयास किया, लेकिन दिव्यांग नहीं माने। वहीं पर बैठकर प्रभारी मंत्री को मांगों से अवगत करवाने की बात पर अड़े रहे। इसी दौरान पूर्व पार्षद सीताराम खटीक वहां पहुंचे। रास्ते से हटने व प्रभारी मंत्री के आने पर ज्ञापन देने की बात कहीं। लेकिन दिव्यांग नहीं माने। इसी बात को लेकर रॉयल विकलांग सेवा संस्थान प्रदेशाध्यक्ष अख्तर खान रूकनखानी व पूर्व पार्षद सीताराम एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोपण लगाते हुए हंगामा करने लगे।

मौके पर भीड़ जमा हो गई। सूचना पर आयुक्त अभिलाषासिंह पहुंची। दिव्यांगों को रास्ते से हटने के लिए समझाइश की व प्रभारी मंत्री के आने पर ज्ञापन दिलाने का आश्वासन दिया। इसके बाद वहीं पर साइड में चार-पांच कुर्सी लगवाकर बैठाया गया।

नगर परिषद पहुंचने पर प्रभारी मंत्री ने रॉयल विकलांग सेवा संस्थान पदाधिकरियों की समस्या सुनी। पदाधिकारियों ने पहले उनका स्वागत किया तथा बाद में अपनी मांग को लेकर ज्ञापन दिया। प्रभारी मंत्री ने तत्काल टिप्पणी करते हुए डीईओ प्रारंभिक को विशेष शिक्षक लगाने के लिए लिखा।

NSUI की मांग पर निर्माणाधीन कॉलेज का किया निरीक्षण
लोहिया कॉलेज में हुए कार्यक्रम के दौरान एनएसयूआई पदाधिकारियों ने जिलाध्यक्ष मनीष सैनी के नेतृत्व में निर्माणाधीन राजकीय गर्ल्स कॉलेज को जल्द शुरू करवाने की मांग की। कार्यक्रम के बाद मंत्री ने निर्माणाधीन कॉलेज भवन का निरीक्षण किया। आगामी सत्र से पहले कॉलेज का लोकार्पण करवाने का आश्वासन दिया। इस दौरान तौफीक खान, मनीष कुमावत, जीतू प्रजापति, पंकज शर्मा, राकेश गोदारा, अनीश खान, सॉयल खान, हेमंत सैनी, अमन दाधीच, मंजीत मीणा, विशाल सैनी, अनिल, अनिल ढाका, रामानंद न्योल, प्यारेलाल, संदीप प्रजापत, दीपक शर्मा, अलीहसन आदि उपस्थित थे।

जनप्रतिनिधियों ने डिस्कॉम के खाली पद व चिरंजीवी योजना से निजी अस्पतालों के नहीं जुड़े होने का मुद‌्दा उठाया

पट्‌टा वितरण कार्यक्रम के दौरान किसान नेता आदूराम न्यौल ने डिस्कॉम में अधिकारियों के खाली पदों पर नियुक्ति की प्रभारी मंत्री से मांग की। न्यौल ने कहा कि सरकार प्रशासन गांवों के संग अभियान के दौरान अधिकाधिक लोगों को लाभान्वित कहने की बात कह रही है। हालात ये हैं कि डिस्कॉम में एईएन, जेईएन से लेकर एसई तक के पद खाली होने के कारण कोई काम नहीं हो रहे है।

रबी की बुआई का समय है, किसानों को बिजली कनेक्शन नहीं मिल रहे है। पूर्व उप जिला प्रमुख सोहन मेघवाल ने चिरंजीवी योजना से निजी अस्पतालों के नहीं जुड़े होने का मुद्दा उठाया। प्रभारी मंत्री ने संबंधित मंत्री से बात करने व कलेक्टर को निजी अस्पतालों से बात कर उन्हें योजना से जोड़ने के लिए कहा।

शिक्षिका का तबादला रद‌्द का ज्ञापन देने आई छात्राओं को गेट पर खड़ा किया

नगर परिषद में राजकीय शारदा स्कूल की छात्राएं स्कूल की अध्यापिका का स्थानान्तरण किए जाने के विरोध में ज्ञापन देने के लिए पहुंची। छात्राएं प्रभारी मंत्री के आने से पहले नगरपरिषद सभागार के आगे एकत्रित हो गई। सूचना मिलने पर सभापति पायल सैनी ने तत्काल अपने गार्ड को छात्राओं के पास भेजा। सभापति ने जुली टीम को भी छात्राओं को वहां से हटाने व बिना किसी प्रदर्शन के ज्ञापन दिलाने के लिए कहा। गार्ड ने छात्राओं को वहां से हटवाकर गेट के आगे खड़ा किया।

खबरें और भी हैं...