लचर व्‍यवस्‍था को लेकर विरोध:सुजानगढ़ अस्पताल की अव्यवस्थाओं पर भाजपा ने पीएमओ का किया घेराव

सुजानगढ़20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल की अव्यवस्थाओं को लेकर पीएमओ से वार्ता करते भाजपा पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
अस्पताल की अव्यवस्थाओं को लेकर पीएमओ से वार्ता करते भाजपा पदाधिकारी।
  • पीएमओ से कहा-अस्पताल में बेडशीट होने के बाद भी मरीजों को क्यों नहीं मिल रही

उपजिला बगड़िया अस्पताल में अव्यवस्थाओं को लेकर भाजपा पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने पीएमओ डॉ. शंकरलाल का घेराव किया। बीदासर प्रधान संतोष मेघवाल व नगरपरिषद की नेता प्रतिपक्ष जयश्री दाधीच के नेतृत्व में भाजपा ने पीएमओ के चैंबर में अस्पताल की अव्यवस्थाओं और पीएमओ के दिए गैर जिम्मेदाराना बयानों को लेकर सवाल-जवाब किए।

कार्यकर्ताओं ने मरीजों को लेकर बरती जा रही लापरवाही, आवारा पशुओं के विचरण, लपका गिरोह समेत कई मामलों पर पीएमओ को खरी-खरी सुनाई। पीएमओ ने एक ही बात दोहराई कि अभी मैं नया-नया लगा हूं। समय आने पर ही समाधान होगा। पदाधिकारियों ने कहा कि अस्पताल की व्यवस्थाओं को सुधारना आपका काम है।

आखिर कब तक नया होने का बहाना करेंगे। कार्यकर्ताओं का आक्रामक रुख देखकर पीएमओ ने कहा कि जल्द सब कुछ ठीक करने के प्रयास किए जाएंगे। घेराव के दौरान बुद्धिप्रकाश सोनी, पार्षद दीनदयाल पारीक, पुरुषोत्तम शर्मा, मनोज पारीक, कमल दाधीच, मनीष दाधीच, प्रेमप्रकाश स्वामी, प्रकाश मायछ, महेश जोशी, प्रेम स्वामी, अमन सोनी, शिवभगवान दर्जी, जानकीप्रसाद सोनी आदि मौजूद थे।

ज्ञापन में लिखा-परिसर में घूम रहा लपका गिरोह, कार्रवाई क्यों नहीं अस्पताल प्रशासन

पीएमओ को दिए ज्ञापन में लिखा कि अस्पताल में लपका गिरोह घूम रहा है। सीसीटीवी होने के बाद भी कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही। निशुल्क दवा व जांच योजना की धज्जियां उड़ाई जा रही है। बेडशीट होने के बाद भी मरीजों को बिना बेडशीट क्यों लेटा रहे हैं। अस्पताल परिसर में बेसहारा पशु घूम रहे है। सफाई व पार्किंग व्यवस्था बिगड़ी है। 50 बेड बढ़ाने के बाद भी आज तक व्यवस्था नहीं हुई है। विधायक व राज्य सरकार को अवगत करवाएं।

पीएमओ को बर्खास्त करने की सीएम से मांग :

सामाजिक कार्यकर्ता बसंत बोरड़ ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर सुजानगढ़ के बगड़िया उपजिला अस्पताल में चल रही अव्यवस्थाओं के लिए पीएमओ डॉ. शंकरलाल को बर्खास्त कर दूसरा पीएमओ लगाने की मांग की है। ज्ञापन में बताया कि भामाशाह अस्पताल के लिए समय-समय पर लाखों रुपए का सहयोग करते हैं, लेकिन अस्पताल प्रशासन ने इनका मखौल बना दिया है।

बेडशीट उपलब्ध होने के बावजूद भी रोगियों को बिछाने के लिए नहीं दी जा रही है। लपका गिरोह भी लंबे समय से सक्रिय है। इतना सब होने के बावजूद सीसीटीवी सिर्फ दिखावे के लिए रह गए हैं। पीएमओ जिम्मेदारी निभाने की बजाय अजीबोगरीब बयान देते हैं, जो अस्पताल और आमजन के हित में नहीं है।

खबरें और भी हैं...