बाल विवाह पंजीयन का विरोध:भाजयुमो ने कहा-इस कानून से बाल विवाह को मिलेगा बढ़ावा,बच्चों के अधिकारों का होगा हनन,विरोध-प्रदर्शन कर आंदोलन की दी चेतावनी

चूरू4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रदर्शन करते भाजुमो कार्यकर्ता - Dainik Bhaskar
प्रदर्शन करते भाजुमो कार्यकर्ता

राज्य सरकार ने हाल ही में बाल विवाह के पंजीयन को मान्यता दी गई है। जिसके विरोध में भाजयुमो ने विरोध-प्रदर्शन किया। भाजयुमों ने बिल को निरस्त नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। भाजयुमो जिलाध्यक्ष मदन गोपाल बालाण ने कहा कि बाल विवाह पंजीयन बिल पारित होना गलत है। इसमें बच्चों के अधिकारों का हनन है। बाल विवाह को रोकने के लिए समय-समय पर सरकार ने बाल विवाह निषेध कानून लागू कर इसको रोकने के लिए कठोर नियम लागू किए है। अब राज्य सरकार ने बाल विवाह पंजीयन लागू कर पहले बनाए गए सभी नियम व कानून को शून्य साबित कर दिया है। इस कानून को लागू कर सरकार बाल विवाह को बढ़ावा दे रही है। अगर समय रहते सरकार इस लागू को निरस्त नहीं करेंगी तो भाजयुमो के कार्यकर्ता सड़क पर उतरकर आंदोलन करेंगे। जिसकी समस्त जिम्मेदारी सरकार की होगी। प्रदर्शन कर बाल विवाह पंजीयन के विरोध में राज्यपाल के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान लखेन्द्र सिंह दांदू, मनोज श्योपुरा, कमल रक्षक, मुकेश, प्रजापत, अजय सिंह उंटवालिया, कमल सैनी, सचिन जांगिड़, मुकेश मेघवाल, योगेंद्र खीची, प्रशांत शर्मा,आदिल खान, रामचन्द्र सैनी, दीपक सैनी, मुकेश गुर्जर, पंकज सारस्वत आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...