पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आंधी के बाद बारिश:चूरू प्रदेश का दूसरा सबसे गर्म शहर, 46 डिग्री तपने के बाद शाम को गिरी राहत की बूंदें

चूरू19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
तालछापर अभयारण्य में काले हिरणों ने पेड़ों के नीचे ली पनाह। - Dainik Bhaskar
तालछापर अभयारण्य में काले हिरणों ने पेड़ों के नीचे ली पनाह।
  • आज भी तेज हवा के साथ हल्की बारिश की संभावना

दो दिन से चूरू की गर्मी सितम ढाने लगी है। भीषण गर्मी के साथ चूरू सीवियर हीट वेव भी झेल रहा है। शनिवार को दिन का तापमान 46 डिग्री के पार चला गया, वहीं रात का तापमान 24 घंटे में 5.4 डिग्री तक उछाल खाकर 31.4 डिग्री पहुंच गया। रात को कूलर की हवा से भी राहत नहीं मिली। शनिवार को चूरू प्रदेश में दूसरा सबसे गर्म शहर रहा। श्रीगंगानगर का तापमान 46.3 डिग्री सबसे ज्यादा रहा। बीकानेर का 44.8 डिग्री तापमान रहा।

शनिवार सुबह 11.30 बजे चूरू 43.6 डिग्री तपने लगा था। दोपहर में चलने वाली हीट वेव में एक सेकंड बाहर खड़े होने की स्थिति नहीं थी। दोपहर तीन बजे तक गर्मी प्रचंड पर थी। शाम चार बजे बाद तेज हवाएं चलने लगी। 5.30 बजे अचानक बारिश शुरू हो गई। करीब दस मिनट की बारिश से लोगों को गर्मी से राहत मिली। शनिवार को अधिकतम 46.1 एवं न्यूनतम तापमान 31.4 डिग्री रहा, जबकि इससे पहले शुक्रवार को अधिकतम 46.6 एवं न्यूनतम 26.0 डिग्री था।

जयपुर मौसम केंद्र के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि पंजाब व आसपास क्षेत्र में एक परिसंचरण तंत्र बना हुआ है, जिसका विस्तार सतह से 1.5 किमी ऊपर तक है। वायुमंडल के निचले स्तर में परिसंचरण तंत्र से लेकर उत्तर-पूर्वी राजस्थान तक एक ट्रफ लाइन बनी हुई है। इस बीच 31 मई से राज्य में नया विक्षोभ सक्रिय हो रहा है, जिससे बीकानेर संभाग के जिले में आंधी-बारिश होगी।

आगे : सीवियर हीट वेव रहने की आशंका
पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से आगामी 48 घंटे में चूरू, हनुमानगढ़ व श्रीगंगानगर जिलों में सीवियर हीट वेव रहने की संभावना है। 30 मई को बीकानेर संभाग के कुछ जिलों में मेघगर्जन के साथ 45 से 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं व हल्की बारिश होने की संभावना है।

नॉलेज : मैदानी भागों में 460 तापमान होते ही सीवियर हीट वेव, अभी जिले में यही स्थिति

जयपुर मौसम केंद्र के निदेशक राधेश्याम शर्मा का कहना है कि जब मैदानी भागों में दिन का तापमान 40 से अधिक हो जाए तो हीटवेव एवं 40 से 6.4 डिग्री तक दिन का तापमान बढ़ जाए तो सीवियर हीटवेव की स्थिति हो जाती है। संभाग के श्रीगंगानगर, चूरू व बीकानेर में फिलहाल यही स्थिति है। लू से पानी की कमी, गर्मी से थकान, हीट स्ट्राेक की स्थिति हो सकती है। सिर दर्द, बुखार, उल्टी-दस्त व बेहोशी आ सकती है। बचाव : भीषण गर्मी व लू में बाहर नहीं निकलें। जरूरी होने पर पर्याप्त पानी पीकर व सिर ढककर ही बाहर निकलें।

खबरें और भी हैं...