पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रशासन शहरों के संग अभियान की तैयारियों को लेकर:पार्षदों की बैठक, सभी जनप्रतिनिधि प्रयास करें कि शिविरों में ज्यादा से ज्यादा लोग लाभांवित हों : सभापति

चूरू10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रशासन शहरों के संग अभियान की जानकारी देते कार्यवाहक आयुक्त। - Dainik Bhaskar
प्रशासन शहरों के संग अभियान की जानकारी देते कार्यवाहक आयुक्त।

प्रशासन शहरों के संग अभियान के तहत बुधवार से विभिन्न वार्डों में लगाए जाने वाले शिविरों व तैयारियों को लेकर मंगलवार को नगरपरिषद सभागार में पार्षदों की बैठक हुई।

बैठक में सभापति ने कहा कि प्रदेश के हर पीड़ित, जरूरतमंद व पात्र व्यक्ति को सरकार की योजनाओं का लाभ घर बैठे आसानी से मिल सके, इसके लिए ही अभियान का संचालन किया जा रहा है। दो अक्टूबर से अभियान का आगाज होगा। सभापति ने कहा कि सभी जनप्रतिनिधि प्रयास करें कि शिविरों में अधिक से अधिक लोगों को लाभान्वित किया जा सके तथा उन्हें अनावश्यक चक्कर नहीं लगाने पड़े।

कार्यवाहक आयुक्त डॉ. सहदेवदान चारण ने पांच सत्रों में अलग-अलग योजनाओं की जानकारी देते हुए बताया कि अभियान के दौरान नगरपरिषद से संबंधित कार्यों के अलावा पेयजल, बिजली, सार्वजनिक निर्माण विभाग, समाज कल्याण विभाग, महिला एवं बालविकास विभाग, राजस्व संबंधित मामलों का भी मौके पर ही निपटारा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि अभियान के दौरान 90क, कच्ची बस्ती नियमन, खांचा भूमि, कब्जा भूमि नियमन, स्टेटग्रांट एक्ट, 69ए के पट्टे जारी करने व नाम परिवर्तन, भू-उपयोग परिवर्तन, इजाजत तामीर सहित अन्य कार्यों से पात्र व्यक्तियों को लाभान्वित किया जाएगा। प्रधानमंत्री आवास योजना, इन्दिरा क्रेडिट कार्ड योजना से संबंधित कार्य भी शिविर के माध्यम से किए जाएंगे।

रतननगर : कांग्रेसी पार्षदों ने बैठक से किया वॉकआउट

पालिकाध्यक्ष निकिता गुर्जर की अध्यक्षता में प्रशासन शहरों के संग अभियान को लेकर पालिका सभागार में पार्षदों की बैठक हुई। बैठक शुरू होने से पूर्व ही हस्ताक्षर करने की बात को लेकर विवाद हो गया, जिसके बाद कांग्रेसी पार्षदों ने वॉकआउट कर दिया।

पालिकाध्यक्ष ने बताया कि नियमानुसार बैठक शुरू होने से पूर्व उपस्थित सभी सदस्यों को हस्ताक्षर करना अनिवार्य होता है। जब विपक्षी पार्षदों को हस्ताक्षर के लिए कहा तो उन्होंने यह कहकर हस्ताक्षर करने से इनकार कर दिया कि आप पहले बैठक शुरू करो। प्रतिपक्ष नेता साबिर मोहम्मद ने बताया कि दोपहर 12.15 बजे सभी बैठक में पहुंच गए। ईओ द्वारकाप्रसाद ने पहले हस्ताक्षर करने की बात कहीं, जबकि हमने बाद में करने की बात कही दी तो बैठक में बैठने नहीं दिया गया। इस पर कांग्रेसी पार्षदों ने बाहर आकर नारेबाजी कर विरोध जताया।

खबरें और भी हैं...