पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मानसून की बेरुखी:पश्चिमी विक्षोभ से जुलाई के 7 दिन में जिले में औसत 24 एमएम बारिश, 13 तक मानसून आने की उम्मीद

चूरू24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पिछले साल जिले में जून के अंतिम सप्ताह में मानूसन आ गया था

प्रदेश में मानसून करीब एक पखवाड़े पहले ही दस्तक दे चुका है, लेकिन चूरू जिला अभी मानसून की बारिश का इंतजार कर रहा है। मानसून की बेरुखी के बावजूद इस बार पश्चिम विक्षोभ जिले पर लगातार मेहरबान बना हुआ है, जिसके चलते अधिकांश क्षेत्रों में अब तक अच्छी बारिश भी हुई। जुलाई के प्रथम सप्ताह में भी रतनगढ़ को छोड़कर अन्य सभी ब्लॉक में पांच से 55 एमएम तक बारिश हुई है। वहीं जुलाई के 7 दिन में जिले में औसत 24 एमएम बारिश हुई। इसमें सर्वाधिक 55 एमएम राजगढ़ क्षेत्र में हुई। पश्चिमी विक्षोभ की बारिश से जिले में किसानों ने अब तक 25 फीसदी से ज्यादा खरीफ की बुआई भी कर ली है।

जिले में जनवरी 2021 से सात जुलाई तक के आंकड़ों की बात करें तो सात तहसीलों में कुल 1030 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई है, जिसका औसत 147.14 एमएम है। जनवरी माह में 106 एमएम बारिश हुई, जबकि फरवरी का महीना सूखा रहा। मार्च में नौ व अप्रैल में 43 एमएम बारिश हुई। मई व जून माह में पश्चिम विक्षोभ लगातार सक्रिय रहा, जिसके कारण पांच-सात दिनों के अंतराल में बारिश होती रही।

बारिश व अंधड़ के कारण इस बार गर्मी का असर भी कम रहा। मई में कुल 240 व जून में 458 एमएम बारिश हुई। 19 व 20 जून के आसपास प्रदेश के अन्य जिलों में मानसून की दस्तक हो गई, मगर जिले तक मानसून नहीं पहुंच पाया, मगर बारिश का क्रम नहीं रुका। जुलाई में भी पहले सप्ताह में अब तक 162 एमएम बारिश हो चुकी है।

आगे : 10 जुलाई बाद सक्रिय होगा मानसून

जयपुर मौसम केंद्र प्रमुख राधेश्याम शर्मा ने बताया कि 10 जुलाई को पूर्वी राजस्थान के कोटा, जयपुर उदयपुर, भरतपुर, अजमेर संभाग के कुछ भागों में मानसून के आगे बढ़ने तथा सक्रिय होने के लिए परिस्थितियां अनुकूल है। बीकानेर संभाग के श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, बीकानेर व चूरू जिलों में 11 से 13 जुलाई के बीच मानसून के पहुंचने की संभावना है। 11 से 15 जुलाई के दौरान ज्यादातर स्थानों पर बारिश होने की संभावना है।

पश्चिमी विक्षोभ की मेहरबानी से लगातार बारिश होने से खरीफ फसलों की अगेती बुआई कर चुके किसान अब खरपतवार हटाने में जुटे हुए हैं, वहीं अधिकांश किसान अब अच्छी बारिश होने के बाद बुआई में जुटे हुए हैं। 2020 में जून के अंतिम सप्ताह में पहुंचा था मानसून : जयपुर मौसम केंद्र के अनुसार चूरू जिले में सामान्यतया जुलाई के प्रथम सप्ताह तक मानसून पहुंच जाता है। मगर 2020 में जून के अंतिम सप्ताह में ही मानसून ने दस्तक दे दी थी। मानसून आने के साथ ही शुरुआत के पहले सप्ताह में अच्छी बारिश हुई थी। जुलाई के शुरूआत में करीब दो सप्ताह का ब्रेक लगा था। हालांकि ब्रेक के बाद लगातार अच्छी बारिश हुई थी।

खबरें और भी हैं...