आदेश निरस्त नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी:त्योहारों पर राजकीय अवकाश पर रोक लगाने के आदेश का नगरपरिषद कार्मिकों ने जताया विरोध

चूरूएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आयुक्त को ज्ञापन देते नगरपरिषद के अधिकारी व कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
आयुक्त को ज्ञापन देते नगरपरिषद के अधिकारी व कर्मचारी।

राज्य सरकार की ओर से अवकाश के दिनों में भी नियमित कार्यालय संचालित किए जाने व अभियान संबंधित कार्य करने के आदेश के विरोध में राजस्थान नगरपालिका फेडरेशन संघ शाखा के पदाधिकारियों ने सीएम के नाम आयुक्त अभिलाषा सिंह को ज्ञापन दिया।

ज्ञापन में बताया कि राज्य सरकार की ओर से आमजन को अधिकाधिक राहत प्रदान करने के उद्देश्य से नगरीय निकायों में प्रशासन शहरों के संग अभियान का मुख्य चरण दो अक्टूबर से 31 दिसंबर तक संचालित किया जाना है।

अभियान के तहत सभी अधिकारी व कर्मचारी पूरी निष्ठा के साथ जुटे हुए है। मगर स्वायत शासन विभाग विशिष्ट सचिव ने मंगलवार को अभियान का हवाला देते हुए वर्षों से घोषित राजकीय त्योहारिक अवकाश पर रोक लगा कर समस्त अवकाश के दिनों में रविवार को छोड़कर सुबह 9.30 से शाम छह बजे तक कार्य समाप्ति तक नियमित रूप से सभी अधिकारी व कर्मचारियों के कार्यालय में उपस्थित होकर कार्य संपादित करने के निर्देश जारी किए गए हैं।

त्योहारिक अवकाश बंद कर धार्मिक पर्व का अपमान किया है। इससे सभी वर्ग के कर्मचारियों की धार्मिक आस्था को ठेस पहुंची है। आदेश को जल्द निरस्त करवाया जाए, अन्यथा सभी अधिकारी व कर्मचारी मजबूर होकर प्रशासन शहरों के संग अभियान का बहिष्कार कर आंदोलन करने पर मजबूर होंगे।

खबरें और भी हैं...