पत्रकार वार्ता:राठौड़ बोले - चूरू के लिए स्वीकृत अमृत योजना के 39 करोड़ यूडीएच मंत्री कोटा ले गए

चूरूएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पत्रकार वार्ता में जानकारी देते उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़। - Dainik Bhaskar
पत्रकार वार्ता में जानकारी देते उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़।
  • उप नेता प्रतिपक्ष राठौड़ ने कहा-भाजपा के कार्यकाल में स्वीकृत हुए थे रुपए

उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि कांग्रेस सरकार का तीन वर्ष का कार्यकाल प्रदेश के लोगों के लिए काला अध्याय के रूप में दिखाई देता है। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार केवल पूर्ववर्ती भाजपा सरकार द्वारा घोषित किए गए कार्यों का उद्घाटन करने वाली बनकर रह गई है। कहा कि आश्चर्य तो इस बात का है कि पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के कार्यकाल में चूरू के लिए स्वीकृत अमृत योजना के 108 करोड़ के बजट में से बचे हुए 39 करोड़ को यूडीएच मंत्री ने कोटा में स्थानांतरित कर दिया।

सीवरेज और ड्रैनेज का भी पूरा बजट खर्च नहीं हुआ। राज्य वित्त आयोग का एक भी पैसा चूरू जिले में खर्च नहीं हुआ। ये सरकार केवल 15वें केंद्रीय वित्त आयोग का पैसा खर्च कर रही है। जयपुर रैली का जिक्र करते हुए कहा कि महंगाई बढ़ाने वाली प्रदेश सरकार जयपुर में महंगाई के खिलाफ रैली निकाल रही है। देश में महाराष्ट्र के बाद सबसे ज्यादा वैट राजस्थान में वसूला जा रहा है। राठौड़ अपने निवास स्थान में पत्रकार वार्ता में बोल रहे थे। बिजली, पानी के मामलों को लेकर प्रशासन को घेरा।

वार्ता में पूर्व जिला प्रमुख हरलाल सहारण, प्रधान दीपचंद राहड़, पूर्व जिलाध्यक्ष बसंत शर्मा, विक्रम कोटवाद, शहर मंडल अध्यक्ष सुरेश सारस्वत, विस संयोजक पदम सिंह, नारायण बेनीवाल, सत्तार खान, जिला उपाध्यक्ष भास्कर शर्मा मौजूद थे। संचालन मीडिया संयोजक रवि दाधीच ने किया।

अमृत योजना में चूरू में एक भी कनेक्शन नहीं हुुआ

पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के कार्यकाल में 108 करोड़ से अधिक का बजट अमृत योजना के लिए स्वीकृत हुआ। नगर परिषद में बोर्ड चेंज होने के बाद इस काम को करवाने में रूचि नहीं दिखाने से 39 करोड़ का बजट लैप्स हाे गया। सीवरेज का एक भी कनेक्शन नहीं हुआ। एसटीपी का काम पूरा नहीं हुआ।

चूरू के किसी विधायक को सीएम ने योग्य नहीं समझा

राठौड़ ने कहा कि ये यह पहला अवसर है, जब मुख्यमंत्री गहलोत ने चूरू जिले से सरकार के प्रतिनिधि के रूप में किसी को योग्य नहीं समझा। उन्होंने सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि चूरू में सरकारी पद खाली पड़े हैं। 366 ग्राम सेवकों में से मात्र 166 कार्यरत हैं। पटवारी के 306 में से 106 पद रिक्त हैं। 75 डॉक्टर में से 35 पद रिक्त हैं।

राठौड़ गलत बयानबाजी कर जनता को गुमराह कर रहे : धारीवाल
राजेंद्र राठौड़ गलत बयान दे रहे हैं। भाजपा ने चूरू में अमृत योजना के जो काम अधूरे छोड़े थे, वो हमने पूरे करा दिए हैं। हमारी सरकार के अच्छे कामों से डरकर भाजपा नेता जनता को ऐसे बयान देकर गुमराह कर रहे हैं। राठौड़ अपनी पार्टी के मतभेदों से लोगों का ध्यान हटाना चाह रहे हैं।-शांति धारीवाल, यूडीएच मंत्री

खबरें और भी हैं...