कम वोल्टेज से किसान परेशान:एसई ऑफिस पर ताला लगायास,आक्रोशित किसान बोले-कम वोल्टेज की बिजली से जल रहे उपकरण, सिंचाई नहीं कर पा रहे

चूरूएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भास्कर संवाददाता | चूरू कम वोल्टेज की बिजली मिलने, वंचित किसानों को कनेक्शन नहीं देने व जीएसएस से अन्य क्षेत्र को जोड़ने को लेकर मंगलवार को धीरासर जीएसएस से जुड़े किसानों का आक्रोश फूट गया। आक्रोशित किसानों ने डिस्कॉम एसई कार्यालय के ताला लगा दिया। करीब एक घंटे तक डिस्कॉम स्टाफ कार्यालय के अंदर बंद रहा। बाद में एसई एमएम सिंघवी के साथ हुई वार्ता में सहमति बनने पर किसान माने। कम वोल्टेज से परेशान करीब 150 किसान और कनेक्शन से वंचित करीब 50 किसानों ने वार्ता में अपनी पीड़ा बताई। पूर्व जिला प्रमुख हरलाल सहारण व प्रधान दीपचंद राहड़ के नेतृत्व में धीरासर चारणान व धीरासर शेखावतान के किसान दोपहर 12 बजे डिस्कॉम कार्यालय पहुंचे। नारेबाजी करते हुए विरोध जताया। कार्यालय में एसई के नहीं होने पर किसानों का आक्रोश बढ़ गया और मुख्य गेट पर ताला लगाकर धरना शुरू कर दिया। दोपहर एक बजे एसई एमएम सिंघवी पहुंचे तथा किसानों से समझाइश की। एसई ने जनप्रतिनिधियों व किसानों के प्रतिनिधिमंडल से वार्ता की बात कहीं, जिस पर किसानों ने ताला खोला। प्रतिनिधिमंडल ने एसई को समस्याओं से अवगत करवाया। एसई ने जल्द समाधान का आश्वासन दिया। इस दौरान पूर्व पंस. सदस्य प्रदीप पारीक, जासासर सरपंच संदीप वर्मा, उप सरपंच दुर्गादान चारण, मोहनदान, नेमीचंद, विनोद, उदाराम, भागीरथ, हुणताराम, मोटाराम, लीलाधर, बनवारीलाल, बन्नेसिंह, प्रमोद, प्रभुराम, विष्णुदान, मुकेश, घनश्याम सिंह, भैंराराम, भंवरलाल, ओमप्रकाश जोशी, जयसिंह, प्रमोद सिंह, हनुमानदान, पवनकुमार, झाबरराम सहित काफी संख्या में किसान मौजूद थे। चूरू प्रधान दीपचंद राहड़ ने बताया कि धीरासर जीएसएस से जुड़े किसानों को फिलहाल पूरा वोल्टेज नहीं मिल रहा है। इस कारण सिंचाई नहीं कर पा रहे। इधर, डिस्कॉम के अधिकारी इस जीएसएस से अन्य गांव भी जोड़ रहे हैं। किसानों की जीएसएस से पूरे वोल्टेज में बिजली उपलब्ध करवाने, गांव के वंचित किसानों के कनेक्शन करने व जोड़े जा रहे अन्य गांव के कनेक्शन नहीं करने को लेकर प्रदर्शन किया गया। {पंस. सदस्य हरलाल सहारण ने बताया कि धीरावास जीएसएस से जुड़े गांवों में पर्याप्त वोल्टेज और कनेक्शन के अभाव में 200 से अधिक किसान परेशान हो रहे हैं। किसानों की सुनवाई नहीं हो रही। जिले में अन्य गांवों में भी वोल्टेज की समस्या है। डिस्कॉम के अधिकारी अन्य गांव के इस जीएसएच से कनेक्शन करने की तैयारी में लगे हैं। इसी बात का विरोध जताया गया था। समस्या का समाधान नहीं होने पर फिर आंदोलन किया जाएगा।वार्ता में सहमति के बाद एसई को ज्ञापन दिया : वार्ता के दौरान किसानों ने जीएसएस धीरासर चारणान से जुड़े सरदारशहर तहसील के अजीतसर के करीब 20-22 कृषि कनेक्शन हटवाने, धीरासर चारणान के तीन कृषि कनेक्शन को वापस धीरासर चारणान जीएसएस से जोड़ने, 33केवी बिजली लाइन के ढीले तारों को कसवाने, जीएसएस से बाहरी क्षेत्र का कोई भी कृषि कनेक्शन नहीं जोड़ने, जासासर धीरासर के 30 किसानों की पेंडिंग फाइल का जल्द निस्तारण करने की मांग की। {अघोषित बिजली कटौती से परेशान रतनगढ़ के गौरीसर गांव के ग्रामीणों ने सोमवार को गौरीसर जीएसएस का घेराव किया था। तहसीलदार ने समझाइश की थी।छोटी-मोटी समस्याएं हैं, जल्द समाधान कर देंगे : एसई ^जिले में फिलहाल बिजली व्यवस्था माकूल है। ग्रामीण क्षेत्रों में भी पर्याप्त रूप से पूरे वोल्टेज में बिजली मिल रही है। धीरासर जीएसएस से भी अन्य गांव के कुछ कनेक्शन करने को लेकर अध्ययन किया जा रहा था, अभी कनेक्शन जोड़े ही नहीं हैं। इसी को लेकर आज कुछ किसान कार्यालय में आए थे। गौरीसर जीएसएस पर भी बिजली कटौती जैसी कोई बात नहीं है। काम के चलते एक-दो दिन बिजली नहीं मिलने से ग्रामीण आ गए थे। ऐसी छोटी-मोटी समस्याओं का भी जल्द समाधान हो जाएगा। -एमएम सिंघवी, एसई, जोधपुर डिस्कॉम, चूरू

खबरें और भी हैं...