शिक्षा में नवाचार:12वीं गणित के स्टूडेंट्स के लिए टीच-बी कार्यक्रम, एचसीएल में जॉब का मौका भी

चूरूएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने कार्यक्रम से विद्यार्थियों को जोड़ने के निर्देश जारी किए

12वीं की पढ़ाई कर रहे व 12वीं कक्षा पास गणित के विद्यार्थियों के लिए अच्छी खबर है। गणित के विद्यार्थियों को कोर्स करने के साथ ही जॉब करने का भी अवसर मिलेगा। इसके लिए एचसीएल कंपनी ने टीच बी कार्यक्रम शुरू किया है। माध्यमिक शिक्षा निदेशालय, बीकानेर ने इस कार्यक्रम से अधिकाधिक विद्यार्थियों को जोड़ने के लिए सभी मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी व पदेन जिला परियोजना समन्वयक को 11 अक्टूबर को आदेश भी जारी किए हैं। इसके लिए पात्र विद्यार्थियों का कंपनी की तरफ से ऑनलाइन टेस्ट लिया जाएगा। विद्यार्थियों को एचसीएल टीच बी में आवदेन करने के लिए कंपनी की रजिस्ट्रेशन वेबसाइट लिंक पर जाकर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। आवदेन करने वाले विद्यार्थी के गणित में 60 प्रतिशत व पूरे पाठ्यक्रम में भी 60 प्रतिशत अंक होना जरूरी है।

सभी डीईओ व पदेन जिला परियोजना समन्वयक को दिए निर्देश :

माध्यमिक शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी की तरफ से जारी आदेश में सभी सभी मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी व पदेन जिला परियोजना समन्वयक को निर्देश दिए है। जारी आदेश में लिखा गया कि टेक्नोलॉजी में भविष्य बनाने के इच्छुक विद्यार्थियों को अधिकाधिक संख्या में आवेदन करवाना सुनिश्चित करे। एचसीएल के प्रतिनिधि द्वारा कार्यालय व स्कूल का विजिट किए जाने पर उनका सहयोग किया जाए।

ऑनलाइन करना होगा रजिस्ट्रेशन, 60% अंक जरूरी

ऑनलाइन टेस्ट में चयनित विद्यार्थियों को कंपनी की तरफ से कई प्रकार के लाभ दिए जाएंगे। टीच बी कार्यक्रम में प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्राओं को उनकी ट्रेनिंग पूरी हो जाने के बाद एचसीएल में फुल टाइम नौकरी दिए जाने का प्रावधान है। इस कार्यक्रम के दो भाग होंगे क्लासरूम ट्रेनिंग व इंटर्नशिप। इसकी समयावधि छह महीने व 12 महीने रहेगी। ट्रेनिंग व इंटर्नशिप सफलतापूर्वक पूरी करने पर विद्यार्थी 1.70 से 2.20 लाख रुपए प्रतिवर्ष प्रारंभिक वेतन मिलेगा। विद्यार्थी एचसीएल में नौकरी के दौरान बीटस पिलानी व शस्त्रा यूनिवर्सिटी से स्नातक की पढाई पूरी कर सकेंगे। शिक्षा फीस का आंशिक रूप से एचसीएल द्वारा भुगतान किया जा रहा है।

टेक्नोलॉजी में अवसर तलाशने में कारगर होगा कार्यक्रम

निदेशालय ने आदेश जारी किए हैं। हाल ही वीसी में भी आदेश दिए थे। टेक्नोलॉजी में अवसर तलाशने वाले गणित के विद्यार्थियों के लिए यह कार्यक्रम कारगर रहेगा। विद्यार्थियों को अधिकाधिक संख्या में इस कार्यक्रम से जोड़ने का प्रयास किया जाएगा।
-संतोष महर्षि, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी, चूरू

खबरें और भी हैं...