पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Churu
  • The Attackers First Fired On The Ground To Intimidate The Villagers, And The Villagers Sitting Nearby Moved And Targeted Pradeep And Opened Fire.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हिस्ट्रीशीटर सहित 4 की मौत का मामला:हमलावरों ने ग्रामीणों को डराने के लिए पहले जमीन पर फायर किए पास में बैठे ग्रामीण हटे तो प्रदीप को टारगेट कर गोलियां चलाई

चूरू/सादुलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सादुलपुर. ढाणी मौजी गांव पुलिस छावनी बना रहा। वारदात स्थल पर जांच करती डॉग स्क्वायड टीम। - Dainik Bhaskar
सादुलपुर. ढाणी मौजी गांव पुलिस छावनी बना रहा। वारदात स्थल पर जांच करती डॉग स्क्वायड टीम।
  • जान बचाने के लिए भागते समय प्रदीप के गिरने के बाद अंधाधुंध फायरिंग

गांव ढाणी मौजी में शुक्रवार को हाथों में पिस्टल लिए हमलावरों ने ग्रामीणों को डराने के लिए पहले जमीन पर फायर किए, पास में बैठे ग्रामीण हट गए तो हिस्ट्रीशीटर प्रदीप स्वामी को टारगेट कर फायरिंग शुरू कर दी। ढाणी मौजी में प्रदीप स्वामी सहित चार लोगों की मौत के दूसरे दिन शनिवार को गांव से जुटाई जानकारी में कई तरह की बातें सामने आई।

ग्रामीणों के अनुसार प्रदीप गांव में एक घर के आगे चबूतरे पर ताश खेल रहा था। इसी दौरान बाइक पर आए हमलावरों ने प्रदीप को अकेला करने के लिए पहले जमीन पर फायर किए। फायर से चार-पांच लोग अलग हो गए। इसके बाद हमलावरों ने प्रदीप को टारगेट कर फायरिंग करनी शुरू कर दी। सबसे पहले निहालसिंह व ईश्वरसिंह के गोली लगी। गोली लगने के बाद प्रदीप जान बचाने भागने लगा तो गिर गया। इसके बाद हमलावरों ने प्रदीप पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी।
19 घंटे बाद तीनों का पोस्टमार्टम, निहाल व ईश्वर के 1-1 गोली लगी

घंटेभर चली वार्ता के बाद 11 बजे मृतक के परिजनों व अन्य ग्रामीणों ने सहमति जताई। 11.20 बजे यानी घटना के साढ़े 19 घंटे बाद शवों को एंबुलेंस से रैफरल अस्पताल ले जाया गया। 3.30 बजे तक तीनों शवों का पोस्टमार्टम मेडिकल बोर्ड द्वारा किया गया। रैफरल अस्पताल के सीएमओ डॉ. उम्मेदसिंह पूनिया के निर्देशन में डॉ. सज्जन कुमार, डॉ. पंकज पूनिया व डॉ. महिपाल के बोर्ड द्वारा प्रदीप स्वामी, निहालसिंह व ईश्वरसिंह के शवों का पोस्टमार्टम किया गया। पोस्टमार्टम के दौरान प्रदीप के शरीर से पांच गोलियां निकाली गई। प्रदीप के 18 गोलियां मारी गई थी। निहालसिंह व ईश्वरसिंह के एक-एक गोलियां लगी। शरीर से विसरा लेकर जांच के लिए भेजा है।

मृतक हमलावर की देर रात हुई पहचान

एसपी टोगस ने बताया कि मृतक हमलावर की पहचान बलबीर उर्फ चीमा उर्फ शेरा निवासी चंडीगढ़ के रूप में हुई। इसने चार दिन पहले ही सोनीपत में भी एक मर्डर किया था। इसका रविवार को पोस्टमार्टम होगा।
हत्या या आत्महत्या, गुत्थी नहीं सुलझी

मृतक हमलावर की कनपटी में गोली लगी है। दर्ज मामले में हमलावर की हत्या अन्य आरोपियों द्वारा करने का आरोप लगाया है। एक अंदेशा यह भी जता रहे हंै कि हमलावर ने ग्रामीणों को आते देख पकड़े जाने के डर से खुद ही गोली मार ली। पुलिस अधिकारियों का मानना है कि इसकी मौत का चश्मदीद गवाह नहीं है। जांच के बाद पता चलेगा कि मौत कैसे हुई।

पत्नी के पंचायत समिति सदस्य बनने के बाद ज्यादातर अकेला ही घूमता था हिस्ट्रीशीटर प्रदीप स्वामी, ढाणी मौजी गांव में भी आना-जाना लगा रहता था

एसओजी के एडीजी और डॉग स्क्वायड टीम पहुंची : शनिवार को एसओजी के एडीजी अशोक राठौड़, एसपी व एएसपी मय टीम के राजगढ़ पहुंचे। हालांकि मामले की जांच अभी राजगढ़ एएसपी पवन कुमार मीणा कर रहे हैं। शुक्रवार रात बीकानेर आईजी प्रफुल्ल कुमार भी राजगढ़ पहुंचे। शुक्रवार शाम से कलेक्टर सांवरमल वर्मा व एसपी नारायण टोगस राजगढ़ में ही भारी जाब्ते के साथ डेरा डाले हुए हैं। एचएस प्रदीप स्वामी तथा ग्रामीण निहालसिंह व ईश्वरसिंह की हत्या तथा गांव के संजय पूनिया व द्वारकाप्रसाद के घायल होने तथा एक हमलावर की हत्या व दूसरे हमलावर के घायल होने के मामले को लेकर बीकानेर से सुबह 9.15 बजे डॉग स्क्वायड टीम भी ढाणी मौजी पहुंची। एफएसएल टीम ने भी नमूने लिए।
मृतक हमलावर के नाम के संशय को सुलझाने में जुटे रहे पुलिस के अधिकारी
वारदात के बाद मौका स्थल से करीब एक किमी दूर मृत मिले हमलावर की शिनाख्त शनिवार को भी नहीं हुई। हालांकि देर रात इसकी शिनाख्त हो गई। पुलिस के आला अधिकारी मृतक हमलावर के नाम के संशय को सुलझाने में दिनभर लगे रहे। आईजी ने बताया कि मृतक का जो नाम सामने आ रहा है, उस नाम के दो बदमाश हैं। मृतक के कोई परिजन भी शिनाख्त के लिए नहीं पहुंचे हैं। माना जा रहा है कि मृतक ही मुख्य शूटर था।
दो आरोपी राउंडअप, कैंपर व 1 बाइक जब्त

एसपी नारायण टोगस के अनुसार मामले में वारदात के उपयोग में ली गई कैंपर जब्त कर चालक को राउंड अप किया है। एक अन्य आरोपी को भी राउंडअप किया है। अन्य नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी को गठित टीमें संभावित स्थानों पर दबिश दे रही हैं।

ग्रामीणों के अनुसार पत्नी के पंचायत समिति सदस्य बनने के बाद प्रदीप ज्यादातर अकेला ही घूमता था। यहां तक कि वह अपने पास गाड़ी व हथियार भी नहीं रखता था। ढाणी मौजी में प्रदीप का आना-जाना लगा रहता था। शुक्रवार को भी प्रदीप अकेले ही पैदल ढाणी मौजी आ गया और ताश खेलने लगा।
गांव ढाणी मौजी में दूसरे दिन भी रहा दहशत का माहौल
दूसरे दिन शनिवार को भी ढाणी मौजी में दहशत का माहौल रहा। गांव की गलियों में सन्नाटा पसरा रहा। मृतकों के घर कुछ लोग शवों के इंतजार में बैठे हुए थे। गांव की गलियां व गुवाड़ सूने पड़े रहे। एक ग्रामीण ने बताया कि चुनाव में इस गांव को संवदेनशील माना जाता है। पुलिस को भी उसी अनुरूप यहां के लोगों की सूचना को तव्वजो देनी चाहिए। गांव में पुलिस को मोटिवेशन शिविर भी लगाना चाहिए ताकि ग्रामीण पुलिस का सहयोग करे।
मृतकों की शाम को की गई अंत्येष्टि

पोस्टमार्टम के बाद तीनों मृतकों के शव उनके गांव लाए गए। शाम को तीनों मृतकों की अंत्येष्टि की गई। प्रदीप स्वामी की अंत्येष्टि उसके पैतृक गांव जैतपुरा में की गई। निहालसिंह व ईश्वरसिंह की अंत्येष्टि उनके गांव ढाणी मौजी में की गई।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें