पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

लापरवाही:पुलिस को पता लगने के 12 घंटे बाद तक फंदे पर झूलता रहा शव

चूरू4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीआई विष्णुदत्त की खुदकुशी का पता शनिवार सुबह 9.30 बजे पुलिस को लगा, शव को रात 9.15 बजे के बाद उतारा
  • सीआई के भतीजे ने कहा-पुलिस ने सूचना नहीं दी, टीवी पर खबर देखकर आए

एक कर्तव्यनिष्ठ पुलिस अधिकारी का इससे बड़ा अपमान और क्या होगा, कि पुलिस को उनकी मौत की सूचना लगने के बाद 12 घंटे बाद शव फंदे के लटका रहा, जिससे उनकी बॉडी काली पड़ गई। पुलिस को सीआई बिश्नोई की खुदकुशी की खबर सुबह 9.30 बजे लग गई, जब उनके सरकारी क्वार्टर में से थाने के पुलिसकर्मी ने उनका शव फंदे के लटका देखा।

मृतक सीआई विष्णुदत्त के चाचा एडवोकेट समृद्ध कुमार का कहना है कि पुलिस ने उनके भतीजे की मौत की सूचना परिजनों को नहीं दी। वे तो टेलीविजन में खबर सुनकर राजगढ़ पहुंचे। फिर 12 घंटे तक पुलिस ने उनके शव को क्यों नहीं उतारा गया। एक कर्तव्यनिष्ठ पुलिस अफसर का मौत के बाद भी पुलिस ने अपमान किया।

एसपी तेजस्वनी गौत्तम का कहना है कि मामले की जांच सीआईडी सीबी को सौंपने के कारण पुलिस ने ब्रांच के एसपी विकास शर्मा के आने का इंतजार किया। वे शाम 5.30 बजे राजगढ़ पहुंचे। इसके बाद मौका मुआयना व फर्द तैयार करके शव को फंदे से उतारा। परिजनों को डीएसपी रामप्रताप विश्नोई ने दी। उन्होंने सीआई विष्णुदत्त को सूचना दे दी। पुलिस ने बीकानेर के एसआई अशोक विश्नोई को मामले की भी सूचना दी थी। 
परिजन सीबीआई जांच के लिए अड़े, शव लेने से किया इनकार
दिवंगत सीआई विष्णुदत्त के चाचा रिटायर्ड एएसपी सहित अन्य परिजनों ने विष्णुदत्त मौत मामले की जांच की मांग की। उनका कहना है कि पुलिस में संवेदनशीलता भूल गई। रात के बाद सुबह सूचना मिलने पर भी शव को फंदे से नहीं उतारा गया। ये शव का अपमान है। पुलिस मामले में कुछ छिपाना चाहती है, इसलिए यहां की जांच पर उन्हें विश्वास नहीं है। वे तब तक शव नहीं लेंगे, जब राज्य सरकार सीबीआई जांच की उनकी मांग स्वीकार नहीं करती। फिलहाल शव को सीआई के क्वार्टर में डी-फ्रिज में रखवा दिया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें