पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Churu
  • The Chairman Inspected And Said, Water Is Being Removed From The Pump And Released At Empty Places, Emergency Team Formed, Control Room Set Up For The Convenience Of The General Public.

गाजसर गिनाणी पर बढ़ा पानी का दबाव:सभापति ने निरीक्षण कर कहा,पम्प से पानी निकालकर खाली स्थानों पर छोड़ा जा रहा,आपातकालीन टीम का गठन,आमजन की सुविधा के लिए कंट्रोल रूम स्थापित

चूरू9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गाजसर गिनानी का निरीक्षण करती सभापति पायल सैनी। - Dainik Bhaskar
गाजसर गिनानी का निरीक्षण करती सभापति पायल सैनी।

शहर में गत तीन दिनों से लगातार हो रही बरसात के कारण शहर के रास्तों व गाजसर गिनाणी पर पानी दबाव बढ़ गया। सभापति पायल सैनी ने रविवार को निरीक्षण कर कहा कि फिलहाल स्थिति पूर्ण नियंत्रण में है। पानी निकासी के लिए चार पीटीओ पम्प चालू कर दिए गए है। जिससे गिनाणी के पानी का स्तर पीटीओ पम्प के जरिये कम करके खाली स्थानों की ओर छोड़ा जा रहा है।

आपातकालीन टीम 24 घंटे रैन बसेरे में रहेगी उपलब्ध
गिनाणी का निरीक्षण करने के बाद सभापति ने कहा कि गिनाणी से छेड़छाड़ नहीं की गई तो इसका टूटना नामुमकिन है। हालांकि मौके पर नगरपरिषद् के अलावा जिला प्रशासन की टीम भी स्थिति पर नजर बनाए हुए है। नगरपरिषद् में मिट्टी के कट्टे पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है,जो मांग के अनुसार वार्ड में भेजा जा रहा है। बरसात के मद्देनजर आपातकालीन टीम का गठन किया गया है जो 24 घंटे रैन बसेरे में उपलब्ध रहेगी। आमजन की सुविधा के लिए नगरपरिषद् में कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। निरीक्षण के दौरान नारायण बालाण, आत्माराम प्रजापति, मनोज कुमार रणवां, मनीराम डाबी, मुकेश पंवार, पार्षद युसुफ खान, गोकूल शर्मा, संजय भाटी व अनिल आदि मौजूद थे।

जलदाय विभाग करें कंट्रोल
सभापति सैनी ने बताया कि बरसाती पानी के साथ-साथ लोगों के घरों से सुबह-शाम आने वाला पानी भी इस समय कोढ़ में खाज का काम कर रहा है। उन्होंने बताया कि शहर में करीब दो सौ पचास कुएं संचालित है,जिन पर 24 घंटे पानी की सप्लाई होती है। कलक्टर के माध्यम से मांग की है कि बरसात के मौसम को देखते हुए जलदाय विभाग की पेयजल सप्लाई दो घंटे सुबह और दो घंटे शाम की की जाए।

जरूरतमंदों को भिजवाएंगे खाना
सभापति ने बताया कि बरसात को देखते हुए जिन निचले इलाकों में बरसाती पानी का भराव हो जाता है। उन्हें खाने के लिए परेशानी नहीं उठानी पडे़। इसके लिए उन्होंने इंदिरा रसोई के माध्यम से जरूरत मंदों के घर पर ही भोजन भिजवाने की व्यवस्था की है। यदि ऐसी स्थिति कहीं उत्पन्न हो तो वह नगरपरिषद् के कंट्रोल रूम में इसकी सूचना देकर घर बैठे भोजन के पैकेट निःशुल्क प्राप्त कर सकतें है।

खबरें और भी हैं...