पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Churu
  • The Chairman Surrounded The Superintendent With The Flaws Of The DB Hospital, Sent A Photo Of The Occasion To Dr. Garg, The Minister In Charge, The Collector Arrived At The Hospital After 15 Minutes All Is Right Here

हंगामा:सभापति ने डीबी अस्पताल की खामियों को लेकर अधीक्षक का घेराव किया, प्रभारी मंत्री डॉ. गर्ग को मौके की फोटो भेजी, 15 मिनट बाद अस्पताल पहुंचे कलेक्टर बोले-यहां तो सब सही है

चूरूएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पार्षद के एक रिश्तेदार की मृत्यु व उनके वार्ड में कोरोना के मामले मिलने पर सभापति पार्षदों व कांग्रेस पदाधिकारियों के साथ अस्पताल पहुंचीं

काेराेना डेडिकेटेड राजकीय डीबी अस्पताल राजनीति का अखाड़ा बन गया है। कांग्रेस के एक पार्षद के रिश्तेदार की कोरोना से मृत्यु मामले में अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए सभापति पायल सैनी ने शनिवार को अधीक्षक का घेराव किया। उन्होंने अधीक्षक डॉ. गोगाराम को अस्पताल की व्यवस्थाओं में खामियों को लेकर खरी-खरी सुनाई।

इस दौरान अधीक्षक को सभापति एवं अन्य कार्यकर्ताओं ने उनके कक्ष में ही घेर लिया। सभापति ने अस्पताल की सफाई, कोरोना मरीज के इलाज में लापरवाही सहित कई मुद्दों को लेकर प्रभारी मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग को जानकारी दी। सभापति ने मौके के फोटो भी प्रभारी मंत्री को भिजवाए। सभापति डेढ़ बजे से सवा दो बजे तक अस्पताल में रहीं।

इसके करीब 15 मिनट बाद कलेक्टर प्रदीप के गावंडे ने अस्पताल के कोरोना वार्ड सहित सुविधाओं का निरीक्षण किया। मरीजों से बातचीत की तथा बाद में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि अस्पताल में सब कुछ सही है। यहां की व्यवस्थाएं संतोषजनक हैं।

मरीज कह रहे हैं कि बराबर भोजन व अन्य सुविधाएं मिल रही हैं। सेनेटाइजर भी बराबर करवाया जा रहा है। बतादें कि पिछले महीने उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने भी अस्पताल का निरीक्षण करते हुए नाराजगी जताई थी।

अधीक्षक डॉ. गोगाराम बोले-मैं यहां पर बेस्ट व्यवस्था कर रहा हूं, फिर भी आपको नहीं जच रहा तो मुझे हटा दो

सभापति और कांग्रेस पदाधिकारियों ने अधीक्षक का उनके कार्यालय में घेराव किया। अधीक्षक डॉ. गोगाराम ने अपने बचाव में तर्क भी दिए। उन्होंने कहा कि वे बेस्ट व्यवस्था कर रहे हैं, इसके बाद भी संतुष्ट नहीं है तो उन्हें हटा दें और वे हटने को तैयार हैं। सफाई को लेकर एक कार्यकर्ता ने पीछे से कहा कि उनका ठेकेदार से कमीशन बंधा है, जिस अधीक्षक तैश में आ गए और कहा कि आरोप साबित हो जाए तो वे कोई भी सजा भुगतने को तैयार हैं।

सभापति पायल सैनी ने डीबी अस्पताल की ये समस्याएं गिनाई

सफाई व्यवस्था बराबर नहीं, टायलेट-बाथरूम की हालत खराब, कोरोना वार्ड में मरीजों के बेड पर चद्‌दर नहीं, गद्दे फटे हुए, इलाज की पर्याप्त सुविधाएं नहीं, रोगी को रैफर करना, कोविड-19 की व्यवस्था संतोषजनक नहीं, पॉजिटिव होने पर 6 दिन बाद अस्पताल में लाना आदि शिकायत की। इस दौरान ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष अबरार खां, बीसूका के पूर्व उपाध्यक्ष आशाराम सैनी एवं पूर्व पार्षद रमजान खान सहित पार्षद और पदाधिकारी थे।

कलेक्टर ने अस्पताल का निरीक्षण किया, कोरोना मरीजों से बात की

सभापति के जाने के 15 मिनट बाद कलेक्टर प्रदीप के गावंडे अस्पताल पहुंचे। कलेक्टर दोपहर ढाई बजे अस्पताल पहुंचे। उन्होंने करीब 45 मिनट तक व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान कोरोना मरीजों व उनके परिजनों से बातचीत की। उनसे भोजन, पानी की सप्लाई एवं उनकी देखरेख के बारे में मरीजों से बात की, जिन्होंने किसी तरीके की शिकायत नहीं की। इस दौरान अधीक्षक डॉ. गोगाराम, प्रो. एफएच गौरी सहित स्टाफ मौजूद था।

कोविड की रिपोर्ट देरी से जारी करने पर भाजपा ने दिया ज्ञापन

बोले-क्वारेंटाइन केंद्र बने यातना गृहभाजपा ने जिलाध्यक्ष व मंडल अध्यक्ष के नेतृत्व में कोविड-19 की रिपोर्ट देरी से जारी होने को लेकर असंतोष जताया। उन्होंने तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। जिलाध्यक्ष पंकज गुप्ता ने कहा कि चार घंटे आने वाली रिपोर्ट अब 48 घंटे बाद मिल रही है।

मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य के पॉजिटिव मिलने के बाद व्यवस्था चरमरा गई है। उन्होेंने कहा कि तत्काल कार्यवाहक प्राचार्य नियुक्त किया जाए। उन्होंने कहा कि जब तक सैंपल की रिपोर्ट नहीं आती तब तक संबंधित व्यक्ति को क्वारेंटाइन करने की बजाय होम आइसोलेट किया जाए। उन्होंने कहा कि क्वारेंटाइन सेंटर यातना गृह बनते जा रहे है। वहां कोई सुविधा नहीं है।

ज्ञापन देने वालों में मंडल अध्यक्ष दीनदयाल सैनी, सुरेश सारस्वत, पूर्व जिलाध्यक्ष वासुदेव चावला, बंसत शर्मा, युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष अभिषेक चोटिया आदि शामिल थे। और कांग्रेस पदाधिकारियों ने अधीक्षक का उनके कार्यालय में घेराव किया। अधीक्षक डॉ. गोगाराम ने अपने बचाव में तर्क भी दिए।

उन्होंने कहा कि वे बेस्ट व्यवस्था कर रहे हैं, इसके बाद भी संतुष्ट नहीं है तो उन्हें हटा दें और वे हटने को तैयार हैं। सफाई को लेकर एक कार्यकर्ता ने पीछे से कहा कि उनका ठेकेदार से कमीशन बंधा है, जिस अधीक्षक तैश में आ गए और कहा कि आरोप साबित हो जाए तो वे कोई भी सजा भुगतने को तैयार हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें