पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नसबंदी में लापरवाही से महिला की मौत का मामला:नसबंदी केस कार्ड नहीं मिलने से एक महीने अटकी रही जांच चिकित्सा विभाग अपना ही रिकाॅर्ड मंगाने में नाकाम साबित हुआ

चूरू10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक महीने बाद मिले नसबंदी केस कार्ड में गड़बड़ी की आशंका

30 जून काे सरदारशहर सीएचसी में निजी एनजीओ के नसबंदी शिविर में महिला की ऑपरेशन के बाद मौत मामले में गठित जांच कमेटी को एक महीने बाद नसबंदी केस कार्ड मिले हैं। ये केस कार्ड महिला की मौत के बाद एनजीओ का स्टाफ लेकर चला गया, जिससे जांच कमेटी के सामने शिविर में किए गए ऑपरेशन की संख्या की अधिकृत जानकारी नहीं मिल सकी। सूत्रों ने बताया कि एनजीओ ने सरदारशहर सीएचसी को ये केस कार्ड इसी सप्ताह सौंपे, जिसे सीएचसी के कार्मिक ने दो रोज पहले ही आरसीएचओ ऑफिस को सुपुर्द किए हैं। देरी से मिले नसबंदी केस कार्ड में गड़बड़ी की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है।

सीएमएचओ डॉ. बीएल सर्वा का कहना है कि नसबंदी केस कार्ड शिविर के तुरंत बाद चिकित्सा विभाग को सुपुर्द किए जाते हैं, क्योंकि इनके जमा होने के बाद लाभार्थी को भुगतान होता है। बतादें कि सरदारशहर सीएचसी में 30 जून को बीदासर के शुभम पैरामेडिकल समिति ने नसबंदी ऑपरेशन किए थे। शिविर में अधिकतम 10 ऑपरेशन करने थे, लेकिन 40 से अधिक ऑपरेशन किए गए। इसी शिविर में रोलासर गांव की मैनादेवी पत्नी दीपाराम की ऑपरेशन के बाद अत्यधिक रक्तस्राव से मृत्यु हो गई। मामले में एक जुलाई को कलेक्टर ने जिला परिषद के सीईओ के नेतृत्व में जांच टीम गठित की। सरदारशहर थाने में सीएमएचओ व एनजीओ के डॉक्टर के खिलाफ मामला भी दर्ज हुआ। जांच कमेटी के अध्यक्ष जिला परिषद सीईओ रामस्वरूप चौहान ने बताया कि नसबंदी केस कार्ड नहीं मिलने के कारण जांच अटकी हुई थी। अब केस कार्ड आ गए हैं। डॉक्टरों की टीम की रिपोर्ट का इंतजार है। इसके बाद उनसे चर्चा करके जिला कलेक्टर को रिपोर्ट सौंप दी जाएगी।

अभी तक नहीं मिला मृतका के परिजनों को मुआवजा
महिला की मौत के तुरंत बाद चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से तत्काल सहायता के तौर पर मिलने वाला दो लाख रुपए का मुआवजा मृतका भी परिजनों को अभी तक नहीं मिला है। सीएमएचओ डॉ. बीएल सर्वा का कहना है कि पीड़ित परिवार की ओर से दो रोज पहले ही आवेदन प्राप्त हुआ है, जिस पर कार्रवाई की जा रही है। एससी-एसटी एक्ट में एफआईआर दर्ज होने के बाद प्रशासन की आेर से मिलने वाली सहायता का निर्णय जिला प्रशासन करेगा।

नायक समाज सहित संगठनों ने दी आंदोलन की चेतावनी
नसबंदी में महिला की मौत मामले में एक महीने तक कोई कार्रवाई नहीं होने पर नायक समाज ने धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी है। एक दिन पहले ही कलेक्टर से मिले नायक समाज के जिलाध्यक्ष रामेश्वर नायक सहित प्रतिनिधिमंडल ने सात दिन में कार्रवाई नहीं होने धरने की चेतावनी दी है।

चूरू में नवजात चोरी के मामले में आशा सहयोगिनी को हटाया
डीबी अस्पताल के एमसीएच के एसएनसीयू वार्ड से 20 जुलाई को नवजात चोरी करने के मामले में गिरफ्तार आशा सहयोगिनी सुनीता भाटी को महिला एवं बाल विकास विभाग की सीडीपीओ सीमा सोनगरा ने बीसीएमओ की टिप्पणी के बाद शुक्रवार देर शाम को सेवा से पृथक कर दिया है। बतादें कि उक्त आरोपी महिला फिलहाल कोर्ट के आदेश से जेल में है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें