सारथी पोर्टल में गड़बड़ी:ऑफिस होने के बाद भी लाइसेंस के लिए जाना पड़ रहा सीकर, फतेहपुर का नहीं मिल रहा अपॉइंटमेंट

फतेहपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कस्बे में परिवहन विभाग का उप परिवहन कार्यालय होने के बाद भी लाइसेंस नहीं बनने का मामला सामने आया है। दरअसल, पिछले 4 वर्षों से लगातार लाइसेंस बनने का काम जारी है, लेकिन एक साथ ही अचानक लाइसेंस बनने में गिरावट देखने को मिली है। परिवहन विभाग ने अपने सार्थी पोर्टल पर कुछ बदलाव किए हैं और बदलाव करने के बाद से ही फतेहपुर उप परिवाहन कार्यालय में लाइसेंस बनने की संख्या बहुत कम हो गई।

फतेहपुर व आसपास के इलाके के लोगों को लाइसेंस के लिए आवेदन करने के बाद अब सीकर जाना पड़ रहा है। फतेहपुर में कार्यालय होने के बावजूद सीकर जाने से लोगों में आक्रोश है और सोमवार को लोगों ने विधायक को ज्ञापन देकर इस समस्या का शीघ्र समाधान करने की मांग की है।

ज्ञापन में बताया कि सरकार के नियमों के अनुसार राजस्थान का मूल निवासी किसी भी अनुज्ञपित प्राधिकारी के समक्ष आवेदन कर अपना लाइसेंस बनवा सकता हैं, लेकिन फतेहपुर में ऑफिस होते हुए भी लाइसेंस बनाने के लिए आवेदन कर्ताओं को सीकर जाना पड़ रहा है। कई आवेदन कर्ताओं का लर्निंग लाइसेंस भी बन चुका है। अब स्थाई लाइसेंस बनवाने के लिए सीकर जाना पड़ रहा है। लर्निग लाईसेन्स आवेदको ने माकपा नेता रामप्रसाद जांगीड, आबिद हुसैन व हैमेन्द्र सिंह महला के संयुक्त नेतृत्व में विधायक हाकम अली खाँ को ज्ञापन दिया। ज्ञापन के माध्यम से मांग की गई कि फतेहपुर शेखावाटी व रामगढ शेखावाटी के स्थाई लाईसेन्स पूर्व की भांति फतेहपुर सब ऑफिस में बनवाया जाएं।

खबरें और भी हैं...