पक्षियों का मांस खाकर, खून-नाखून की तस्करी करती थी महिलाएं:1 बाज, 7 मोर और 60 तीतर के साथ गिरफ्तार; दो साथी फरार

झुुंझुनूं10 दिन पहले
हड्डियों, खून और नाखुनों की तस्करी करती थी महिलाओं।

झुंझुनूं में पक्षियों की हड्डियां, मांस, नाखून सहित अन्य अंगों की तस्करी का मामला सामने आया है। वन विभाग की टीम ने दो महिलाओं को गिरफ्तार किया है। इनके पुरुष साथी मौके से फरार हो गए। महिला शिकारियों से 103 मरे पक्षियों को बरामद किया है। इनमें 7 राष्ट्रीय पक्षी मोर भी शामिल है। खेतड़ी रेंजर विजय कुमार फगेड़िया ने बताया कि छापा पत्नी बिंटू बावरिया और बरजी पत्नी जय सिंह बावरिया को गिरफ्तार किया गया। दोनों महिलाओं ने पक्षियों का शिकार करना स्वीकार किया है। रेंजर ने बताया कि गाड़ा खेड़ा पुलिस चौकी से सूचना मिली थी। गोठ रायपुर के खेतों में शिकारियों के पास मरे हुए पक्षी हैं। वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। दो महिलाओं को पकड़ रखा था। महिलाओं के पास चार कट्टे थे। कट्टों में मरे पक्षी भरे हुए थे। महिलाओं से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि उनके साथ पुरुष साथी भी थे, लेकिन वे मौके से फरार हो गए।

मांस खाने और अंगों की करते तस्करी
शिकारी महिलाओं ने बताया कि पक्षियों का मांस खाने के काम में लेते हैं। इनकी हड्डियां, नाखून, पैर, कुछ पक्षियों का खून, अन्य अंग बेच देते हैं, जिससे अच्छी कमाई होती है। अंगों की तस्करी कहां करते हैं, ये बात महिलाएं नहीं बता पाई। वन विभाग की टीम महिलाओं से पूछताछ कर पुरुष साथियों की तलाश में जुटी है। उन्हें जल्द ही पकड़ा जाएगा। उनके पकड़े जाने के बाद ही पूरे मामले का खुलासा होगा।

एक दिन में 103 पक्षियों का शिकार
महिलाओं के पास जहरीला दाना मिला है। शिकारियों ने बताया कि जहरीला दाना खाने के बाद पक्षी थोड़ी दूरी पर ही मिल जाता है। इस तरह से एक दिन में ही शिकारियों ने 103 पक्षियों का शिकार कर रखा था।

इनका किया शिकार

साधारण तीतर- 60

काले तीतर- 8

राष्ट्रीय पक्षी मोर- 7

मोड़ी- 21

बाज- 1

चिडिय़ा (गाड़ी) 04

चूहा 02