पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धर्म-कर्म:बावलिया बाबा समाधि स्थल पर 54 दिन चला अखंड सुंदरकांड

चिड़ावा22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पाठ समापन पर श्रद्धालुओं का सम्मान करते महंत। - Dainik Bhaskar
पाठ समापन पर श्रद्धालुओं का सम्मान करते महंत।
  • चिड़ावा में गोगामेड़ी स्थित समाधि स्थल पर आयोजन, 6 जून से 31 भक्तों ने दिनरात किए पाठ

शहर में गोगामेड़ी स्थित परमहंस पं. गणेशनारायण बावलिया बाबा समाधि स्थल पर 54 दिवसीय अखंड सुंदरकांड व रामायण पाठ हुआ। मंदिर महंत पं. मुकेश पुजारी के सानिध्य में स्व. मोहनलाल पुजारा की स्मृति में ये आयोजन हुआ। छह जून को अक्षय तृतीया से शुरू हुए आयोजन में 31 श्रद्धालुओं ने दिन-रात 108 सुंदरकांड और 51 रामायण पाठ का वाचन किया। जिसके समापन पर विश्व शांति और कोरोना से मुक्ति की कामना को लेकर हवन व बावलिया बाबा का संगीतमय मंगल पाठ किया गया।

गायक कलाकार अभिषेक मिश्रा व प्रशांत चौमाल सूरजगढ़ ने मंगल पाठ व भजनों की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में संजय दाधीच, राधेश्याम योगी, सुभाष पांडे, प्रियदर्शन जोशी, रामनिवास सैनी, बालकृष्ण चौरसिया, विष्णु पुजारा, लक्ष्य पुजारा, अभिषेक पुजारा, रामावतार दाधीच, अश्विनी कोतवाल, आशीष शर्मा, वेदप्रकाश, समीक्षा, नवीश, ओमप्रकाश गुप्ता, प्रदीप गुप्ता, आदित्य अरड़ावतिया, गिरधारीलाल नरहड़िया, महेश दाधीच, महेश धन्ना, अनिल शर्मा, ओमप्रकाश शर्मा, इंद्रप्रकाश लाटा का सम्मान हुआ। इस अवसर पर सन्दीप फतेहपुरिया, प्रदीप जसरापुरिया, सुरेश डालमिया, चन्द्रप्रकाश केडिया, सुभाष पंवार, अरुण भीमराजका, राजेश डालमिया, सोनू मोदी, शीशराम सैनी बिल्लू, प्रदीपसिंह रावणा, रोहिताश्व महला मौजूद रहे।

पाठ करने वाले श्रद्धालुओं का सम्मान

मंदिर महंत मुकेश पुजारी, पूर्व चेयरमैन रामगोपाल मिश्रा, अग्रवाल जन कल्याण समिति अध्यक्ष दामोदर हिम्मतरामका, ऑल इंडिया बीएड कॉलेज एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक व्यास और शिक्षाविद सत्यनारायण सैनी ने सुंदरकांड-रामायण पाठ करने वाले श्रद्धालुओं का सम्मान किया। सन्दीप हिम्मतरामका, प्रभुदयाल सैनी, कपिल सैनी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...