पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

व्यवस्था:ग्राम पंचायत में सरपंच की जगह उनके पति, ससुर या अन्य रिश्तेदार काम करते नजर आए तो बीडीओ ले सकेंगे एक्शन

झुंझुनूं8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पंचायतों में प्रतिनिधियाें की दखलंदाजी नहीं चलेगी, सरपंच को ही करने हाेंगे काम

पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव पूरे हाे चुके हैं। आधे से अधिक पदाें पर महिलाएं सरपंच चुनी गई हैं, लेकिन अक्सर देखा गया है कि सरपंच महिलाओं के पति, ससुर, भाई, देवर या अन्य रिश्तेदार ग्राम पंचायत में पूरी पंचायती करते नजर आते हैं। वे ही बैठकों में बैठते हैं, ग्रामीणों की समस्याएं सुनते हैं और दखलअंदाजी करते हैं जबकि नियमानुसार वे ऐसा नहीं कर सकते।

इस प्रवृत्ति पर लगाम लगाने के लिए अब प्रशासन ने तय किया है कि पंचायताें में चुने हुए सरपंच ही अपना काम करेंगे। उनके प्रतिनिधि किसी तरह की दखलंदाजी नहीं कर सकेंगे। किसी सरपंच का प्रतिनिधि पंचायत में ग्राम विकास अधिकारी व ग्राम सहायक या बाबू काे सरपंच के ताैर पर आदेश या व्यवहार करता है ताे उसकी शिकायत की जा सकती है।

दरअसल, पंचायतीराज संस्थाओं में महिला सीट हाेने के कारण कई जनप्रतिनिधि परिवार की महिला काे चुनाव लड़ाते हैं। कई महिलाएं सरपंच बन जाती हैं, लेकिन उन्हें राजनीतिक अनुभव नहीं होता। इस कारण पंचायत की मीटिंग से लेकर अन्य कार्यवाही उनके परिजन ही प्रतिनिधि बन कर करते हैं। कई बार ताे पंचायत में सरपंच की कुर्सी पर उनके प्रतिनिधि बैठते हैं और सरपंच घूंघट की ओट में दूसरी ओर बैठी रहती है।

इसका कई बार विराेध हाेता है। अब जिला परिषद ने सभी बीडीओ काे इस बारे में निर्देश दिए हैं। इसके तहत सरपंच को पंचायत में उपस्थित रह कर काम करने होंगे। घर में बैठ कर पंचायत का रिकार्ड मंगवाने व ले जाने पर राेक रहेगी। इतना ही नहीं, पंचायत की मीटिंग व अन्य कार्यवाही पंचायत में रह कर करनी हाेगी। जिला परिषद सीईओ रामनिवास जाट ने सभी बीडीओ काे इस संबंध में पत्र भेजा है।

इसमें बताया गया है कि काेई प्रतिनिधि सरपंच की हैसियत से किसी कर्मचारी व जनप्रतिनिधि काे निर्देश देते है ताे इसकी शिकायत बीडीओ से की जाएगी। सरपंच तीन दिन अनुपस्थित रहता है ताे उपसरपंच काे सरपंच का कार्य करने के लिए अधिकृत किया जा सकेगा।

तीन दिन सरपंच अनुपस्थित रहा तो उपसरपंच को चार्ज
जिला परिषद सीईओ रामनिवास जाट ने कहा कि यदि सरपंच कार्यालय से अनुपस्थित है और उसका परिजन सरपंच की सीट पर बैठता है कर्मचारियाें काे सरपंच की हैसियत बताकर निर्देशित करता है या पंचायत के रिकार्ड काे सरपंच के अवलाेकन व हस्ताक्षर के लिए पंचायत से बाहर लेकर जाता है ताे ग्राम सचिव इसकी सूचना पंचायत समिति बीडीओ काे देंगे। बीडीओ इसकी जांच कर आराेप पत्र जिला परिषद सीईओ काे भेजेंगे। यदि ग्राम सचिव व बीडीओ इस मामलाें की अनदेखी करते है ताे उनके विरुद्ध भी कार्यवाही हाेगी।

खबरें और भी हैं...