मजबूरी भी जरूरी भी:विवाह या अन्य मौकों पर निमंत्रण देने का तरीका बदला, कार्ड पर लिख रहे-आपके आने से ज्यादा जरुरी है आपकी सेहत

झुंझुनूं6 महीने पहलेलेखक: अविनाश शर्मा
  • कॉपी लिंक

कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव के कारण अब शादी समारोह व अन्य आयोजनों के लिए निमंत्रण पत्र देने का ट्रेंड भी बदल गया है। अब आयोजक निमंत्रण पत्र में कोरोना संक्रमण से बचने, सुरक्षित रहने व सरकार की ओर से जारी की गई गाइडलाइन का पालन करने का संदेश भी दे रहे हैं। निमंत्रण कार्ड में लिख रहे हैं कि हम चाहते हैं कि आप अवश्य पधारें, लेकिन समय की मजबूरी है और जरुरी भी कि हम सभी अपने घरों में रहें और सुरक्षित रहें। कहा जा रहा है कि वे घर से ही आशीर्वाद दें।

आपकी उपस्थिति से ज्यादा जरुरी आपका स्वास्थ्य
उदयपुरवाटी तहसील के डूडी नगर में निवासी सेवानिवृत हवलदार दीपचंद भास्कर की बेटी की शादी 30 अप्रैल को है। उन्होंने शादी के निमंत्रण पत्र के साथ अतिथियों से आग्रह भी किया है कि कोरोना महामारी के सरकारी गाइडलाइन के अनुसार ही कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। आप लोगों की उपस्थिति से ज्यादा आपका स्वास्थ्य मेरे लिए महत्वपूर्ण है। अत: आप स्वयं भी स्वस्थ्य रहे और अपने परिवार का भी ध्यान रखे का संदेश दे रहे हैं।

उपस्थिति जरूरी नहीं, वाट्सएप पर ही भेज दीजिए संवेदना
बंदूकियाें का मोहल्ला हाल दिल्ली निवासी गाेपाल बंदूकिया की पत्नी उर्मिला देवी का 23 अप्रैल को निधन हो गया था। जिनके तीये की बैठक 26 अप्रैल को रखी गई थी। परिजनों ने शोक संदेश के साथ श्रद्धांजलि देने वालों को कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव से बचने की सूचना भी लिखी। जिसमें लिखा की कोरोना गाइड लाइन की पालना के तहत श्रद्धांजलि वाट्स एप के माध्यम से देने की कृपा करें।

मानसिक उपस्थिति को ही आपका आशीर्वाद समझूंगा
हनुमान जन्मोत्सव पर मंदिर बंद रहे तो घरों में धार्मिक आयोजन हुए। देरवाला में रहने वाले अमित कुमार इंदौरिया ने भी सवामणी प्रसाद का आयोजन किया। वाट्स एप पर निमंत्रण कार्ड के साथ कोरोना से सुरक्षित रहने का संदेश भी दिया। कार्यक्रम का आयोजन गाइड लाइन के अनुसार होगा। मेरे लिए आपकी उपस्थिति से ज्यादा महत्व आपकी सुरक्षा है। आपकी मानसिक उपस्थिति को भी मैं आपका आशीर्वाद समझूंगा। आपसे आग्रह है कि आप किसी भी प्रकार का रिस्क नहीं लें।

खबरें और भी हैं...