पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Jhunjhunu
  • Children Affected By Kovid 19 Will Get Benefit From Palanhar Scheme, Survey Is Being Done On The Instructions Of Collector, Jhunjhunu Latest News Update

अच्छी पहल:कोविड 19 से प्रभावित बच्चों को पालनहार योजना से मिलेगा लाभ, कलेक्टर के निर्देश पर करवाया जा रहा सर्वे

झुंझुनूं23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कलेक्टर उमर दीन खान। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
कलेक्टर उमर दीन खान। (फाइल फोटो)

जिले में ऐसे परिवार जो कोरोना महामारी से प्रभावित हुए है उनको राज्य सरकार की ओर से आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाई जाएगी। कलेक्टर उमर दीन खान के निर्देशों के तहत सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के माध्यम से जिले में ऐसे परिवार का सर्वे करवाया जा रहा है, जिससे प्रभावित बच्चों को राज्य सरकार की महत्वकांक्षी योजना पालनहार के माध्यम से लाभान्वित किया जाएगा।

कलेक्टर ने बताया कि इन बच्चों को सरकार की अन्य योजनाओं से जोड़कर लभान्वित करवाने के भी प्रयास किए जाएंगे। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक नरेश बारोठिया ने बताया कि जिले में ऐसे परिवारों का सर्वे किया जा रहा है, जिनमें माता व पिता दोनो की मृत्यु कोरोना से होने, माता या पिता में से एक की मृत्यु कोरोना से होने, माता या पिता में से एक की मृत्यु कोविड 19 से तथा एक की मृत्यु कोविड 19 से पूर्व हो चुकी हो तथा ऐसे परिवार जिनमें एक मात्रा कमाने वाले सदस्य की मृत्यु कोरोना से होने वाले परिवारों को चिन्हित किया गया है। अब इन चयनित परिवारों को पालनहार योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करवाकर लाभ दिलवाया जाएगा।

यह मिलेगा लाभ
प्रत्येक अनाथ बच्चे के लिए पालनहार परिवार को 5 वर्ष की आयु तक के बच्चे के लिए 500 रुपए प्रतिमाह की दर से तथा स्कूल में प्रवेशित होने के बाद 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने तक 1000 रुपए प्रतिमाह की दर से अनुदान उपलब्ध कराया जाता है। इसके अतिरिक्त कपड़े, जूते, स्वेटर एवं अन्य आवश्यक कार्य के लिए 2000 रुपए प्रति वर्ष (विधवा एवं नाता की श्रेणी को छोड़कर) प्रति अनाथ की दर से वार्षिक अनुदान भी उपलब्ध कराया जाता है।

योजना के उद्देश्य
अनाथ बच्चों के पालन-पोषण, शिक्षा आदि की व्यवस्था संस्थागत नहीं की जाकर समाज के भीतर ही बालक-बालिकाओं के निकटतम रिश्तेदार, परिचित व्यक्ति के परिवार में करने के लिए इच्छुक व्यक्ति को पालनहार बनाकर राज्य की ओर से पारिवारिक माहौल में शिक्षा, भोजन, कपड़े एवं अन्य आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराना है। राज्य सरकार द्वारा संचालित यह योजना सम्पूर्ण भारत वर्ष में अनूठी योजना है।

राज्य सरकार महामारी के इस दौर मे आमजन की प्रत्येक पीड़ा को समझते हुए उन्हें सहायता देने के रूप में अग्रसर है। जहा एक और दिन प्रतिदिन कोविड से मौतें हो रही है। वहीं, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग इस महामारी के समय जो भी मृत्यु हो रही है उन के परिजनों को विभाग की योजनाओं से जोड़े कर लाभान्वित कर रहा है। विभाग के सहायक निदेशक नरेश बारोठिया ने बताया कि विभाग की समस्त योजनाएं ऑनलाइन की जा चुकी है। आवेदक खुद की एसएसओ आईडी से या नजदीकी ई मित्रा से संपर्क कर आवेदन कर सकते हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा इस संबंध में वर्तमान परिस्थितियों के अनुरूप वार्षिक सत्यापन से छुट दी है। आप अपने पास पड़ोस मे कोविड 19 महामारी से हुई मृत्यु के बाद मृतक के परिजनों को योजना की जानकारी देवे और योजना मे लाभान्वित करवाएं।

खबरें और भी हैं...