5 लाख की फिरौती मांगने वाला गिरफ्तार:हार्डकोर अपराधी के खिलाफ पहले से 10 मुकदमें दर्ज, रंगदारी मांगने के लिए धमकाने दुकान तक पहुंच जाता था

झुंझुनूं8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस गिरफ्त में आरोपी। - Dainik Bhaskar
पुलिस गिरफ्त में आरोपी।

व्यापारी को जान से मारने और गोदाम में आग लगाने की धमकी देकर 5 लाख की रंगदारी मांगने वाले हार्डकोर बदमाश नीरज उर्फ गणेश को चिड़ावा थाना पुलिस ने गिरफ्तार किया है। चिड़ावा एसएचओ भगवान सहाय मीणा ने बताया कि परमहंस कॉलोनी कोर्ट रोड चिड़ावा निवासी पीड़ित श्यामसुंदर गोयल ने 3 सितंबर को चिड़ावा थाने में एक रिपोर्ट दी। रिपोर्ट में बताया कि उसकी और उसके छोटे भाई की चप्पल जूतों की दुकान है। श्याम होजरी नाम से 2 दुकानें पुरानी तहसील रोड पर स्थित है।

दोनों दुकानों पर वह खुद और उसका पुत्र और छोटा भाई और उसके पुत्र बैठकर व्यापार करते हैं। श्यामसुंदर गोयल ने बताया कि करीब 8 साल पहले चिड़ावा निवासी नीरज उर्फ गणेश नाम का युवक उनकी दुकान पर काम करता था। तीन-चार साल पहले नीरज ने उसके पुत्र नरेंद्र गोयल की मोटरसाइकिल चोरी कर ली थी। जिसे नरेंद्र गोयल ने कोर्ट से छुड़ाया था।उसके बाद से ही नीरज नरेंद्र गोयल से बदला लेने के लिए मौका तलाश रहा था।

रंगदारी मांगने के लिए धमकाने दुकान तक पहुंच जाता था बदमाश

श्यामसुंदर गोयल ने शिकायत में बताया कि नीरज पिछले 1 महीने से लगातार मेरे बेटे नरेंद्र गोयल को जान से मारने की धमकी देकर 5 लाख की रंगदारी मांग रहा है। नीरज धमकियां देकर कहता है कि उसके संपर्क हरियाणा के रुपए लूटने वाले और रंगदारी वसूलने वाली गैंग से हैं। नीरज ने नरेंद्र गोयल को धमकाते हुए कहा कि पैसे नहीं दिए तो वह उसे गोली मरवा देगा और दुकान-गोदाम में आग लगवा देगा। उसने यह भी कहा कि ऐसी घटनाएं झुंझुनू जिले में सिंघाना, नवलगढ़ इलाकों में उनके साथी गुंडे करवाते हैं। उन्हे अगर इशारा कर दिया तो गोली मारने में समय नहीं लगेगा।

नीरज रंगदारी के लिए नरेंद्र गोयल को धमकाने कई बार दुकान पर भी आया था। लगातार मिल रही धमकियों से नरेंद्र गोयल डर गया और 21,22 और 30 सितंबर को तीन किस्तों में बदमाश नीरज को डाक घर के सामने वाली गली के पास श्मशान के पास 2 लाख 60 हजार रुपये दे दिये।पैसे लेने के बाद बदमाश नीरज ने बाकी बचे 2 लाख 40 हजार रुपये 5 दिन के अंदर देने की धमकी दी।

हार्डकोर अपराधी नीरज,अलग अलग थानों में आरोपी के खिलाफ 10 मुकदमें दर्ज

रंगदारी के पैसे देने के बाद नरेंद्र गोयल गुमसुम रहने लगा और नीरज के डर से दुकान पर आना भी बंद कर दिया।उसके बाद जब घर वालों ने नरेंद्र से पूछा तो उसने रोते रोते पूरी कहानी बताई।उसके बाद परिजनों ने चिड़ावा थाने में आरोपी बदमाश नीरज के खिलाफ नामजद मामला दर्ज करवाया।

मामला दर्ज होने के बाद चिड़ावा थाना पुलिस हरकत में आई और नरेंद्र गोयल से नीरज का मोबाइल नंबर लिया और टीम बनाकर उसके ठिकानों पर लगातार दबिश दी। पुलिस ने आरोपी बदमाश के मोबाइल फोन की लोकेशन निकलवाई तो पता चला कि आरोपी नीरज घटना के बाद से ही फरार है और लगातार अपने ठिकाने बदल रहा है। उसके बाद आज पुलिस ने आरोपी को चिड़ावा से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की।पुलिस ने आरोपी से एक मोटरसाइकिल, एक चांदी का कड़ा, एक मोबाइल और 34 हजार रुपये बरामद किए है।

चिड़ावा एसएचओ भगवान सहाय मीणा ने बताया कि आरोपी नीरज हार्डकोर अपराधी है। 2017 से सक्रिय है। आरोपी के खिलाफ अलग अलग थानों में 10 मुकदमे दर्ज हैं। आरोपी के खिलाफ दर्ज मुकदमों में ज्यादातर चोरी के मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर पता लगाने का प्रयास कर रही है कि उसके तार गिरोह से जुडे है और अभी तक उसने कितने लोगों से रंगदारी वसूली है।

खबरें और भी हैं...