पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दुस्साहस:गाेवंश लेकर जा रहे कंटेनर ने पचेरी टोल नाका तोड़ा, हरियाणा पुलिस की मदद से नारनौल में पकड़ा गया कंटेनर

पचेरी/झुंझुनूं21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पचेरी टाेल नाके के बेरियर काे ताेड़कर जाता गाेवंश से भरा कंटेनर। - Dainik Bhaskar
पचेरी टाेल नाके के बेरियर काे ताेड़कर जाता गाेवंश से भरा कंटेनर।
  • हरियाणा पुलिस की मदद से नारनाैल में पकड़ा, अंधेरे का फायदा उठाकर तस्कर फरार, गाेवंश को मुक्त कराया

गाेवंश की तस्करी कर लेकर जा रहे कंटेनर ने शुक्रवार रात फिल्मी स्टाइल में पचेरी टाेल नाके के बेरियर काे ताेड़ दिया और हरियाणा सीमा में घुस गया। कंटेनर का गाेसेवक पीछा कर रहे थे। बाद में हरियाणा पुलिस की मदद से नारनौल में कंटेनर को पकड़ लिया गया। कंटेनर से गाेवंश काे मुक्त कराया हालांंकि गाे तस्कर माैके से भाग गए।

जानकारी के अनुसार शुक्रवार रात काे गौ संवर्धन संस्थान के कार्यकर्ताओं काे सूचना मिली कि एक कंटेनर में गाेवंश भरकर हरियाणा की तरफ ले जाए जा रहे हैं। इसके बाद कार्यकर्ताओं ने हाइवे पर निगरानी शुरू कर दी। रात करीब एक बजे हरियाणा नंबर का एक कंटेनर आता दिखाई दिया। उसे रुकने का इशारा किया। चालक रुकने की बजाय कंटेनर काे भगाकर ले गया।

गाेसेवकाें ने पीछा किया और बुहाना व पचेरी पुलिस काे सूचना दी। पुलिस पहुंचती उससे पहले ही चालक कंटेनर काे हरियाणा सीमा में ले गया। इस दाैरान कंटेनर ने पचेरी टाेल बूथ के बेरियर काे भी ताेड़ दिया तथा बगैर रुके चला गया। पचेरी कलां थानाधिकारी गाेपाल सिंह थालाैर ने बताया कि टाेल संचालक से इसकी जानकारी मिलने पर वे माैके पर पहुंचे।

नारनाैल पुलिस काे सूचना देकर नाकाबंदी कराई। महेंद्रगढ़ राेड पर गाैतस्कर कंटेनर काे छाेड़कर भाग गए। इस बीच गाेसंवर्धन के कार्यकर्ता व पुलिस माैके पर पहुंची। जांच में कंटेनर में छह गाेवंश की माैत हाे चुकी है। सात गाय, तीन बछड़े, तेरह नंदी भी मिले।

समय पर पुलिस काे सूचना मिलती ताे पकड़े जाते आरोपी
पचेरी कलां पुलिस का कहना है कि यदि समय रहते सूचना मिलती ताे गाैतस्कराें काे पकड़ लिया जाता। पचेरी कलां थानाधिकारी गाेपालसिंह थालाैर का कहना है कि उन्हें पचेरी कलां टाेल बूथ संचालक से बेरियर ताेड़ने की सूचना मिली। गाेसेवकाें से पहले सूचना मिल जाती ताे नाकाबंदी करके पकड़ सकते थे।

इन गोसेवकों ने कंटेनर का किया पीछा
गौ संवर्धन संस्थान के ट्रस्टी प्रवीण स्वामी ने बताया कि उन्हें फोन पर सूचना मिली थी कि भैसावता के पास से एक गौवंश का कंटेनर मेवात जा रहा है। जिस पर पूरी टीम को रात को सक्रिय किया गया। जिसमें नरेश पुरोहित, अनूप सैनी, विकास स्वामी बगड़, रणजीत नायक सिंघाना, नवनीत के अलावा टीम नांगल चौधरी के रॉकी भाई नारनौल व उनकी टीम शामिल रही।

खबरें और भी हैं...