एनएसयूआई ने दिया मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन:सरकारी कॉलेजों में सीटों की संख्या बढ़ाने की मांग,12 वीं कक्षा के छात्रों को अनिवार्य मिले प्रवेश

झुंझुनूंएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया (SFI) के बाद अब एनएसयूआई ने जिले की महाविद्यालयों की आवंटित सीटों की संख्या बढ़ाने की मांग की है। जिलाध्यक्ष कर्मयोगी कुलहरी के निर्देशानुसार बुधवार को एनएसयूआई ने मांगों को लेकर राधेश्याम आर मोरारका कॉलेज के प्राचार्य पी के धायल को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में झुंझुनूं जिले के महाविद्यालयों की आवंटित सीटों की संख्या बढ़ाने और 12 वीं कक्षा के छात्रों को कोविड के कारण अगली कक्षा में प्रमोट किये जाने के बाद छात्रों को सरकारी कॉलेजों में प्रवेश की मांग की गई। एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष कर्मयोगी कुलहरी ने कहा कि विश्व स्तरीय कोरोना महामारी के कारण 12वीं कक्षा के छात्र-छात्राओं को बगैर परीक्षा आयोजन के ही उच्चतम श्रेणी से अगली कक्षा में प्रमोट किया गया है।

जिला महाविद्यालयों में प्रथम वर्ष के छात्र-छात्राओं की संख्या अधिक होने के कारण और प्रथम वर्ष के लिए आवंटित सीटों की संख्या में कमी होने के कारण प्रवेश में कठिनाई उत्पन्न हो रही है। राज्य सरकार द्वारा आवंटित सीटों के अंतर्गत सभी छात्रों का सरकारी कॉलेजों में प्रवेश संभव नहीं है। एनएसयूआई की तरफ से कहा गया कि राज्य सरकार ने छात्र हितों को ध्यान में रखते हुए सीटों की संख्या नहीं बढ़ाई तो एनएसयूआई झुंझुनूं की तरफ से जिला स्तर पर बड़ा आन्दोलन किया जाएगा। इस दौरान पूनम, मोनिका, जिला महासचिव योगेश सोनासर, कृष्ण कुमावत, नवीन मीणा, अनिल कुमार, शालिम खानजादा, अनुराग ऐचरा, नोशाद गहलोत, अजरूद्दीन, जहीर खान,अंकित मोगा समेत एनएसयूआई के कार्यकर्ता मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...